बंधक बनने के डर से पहली मंजिल से कूदा कर्मचारी, अस्पताल में भर्ती

चम्पावत: मामला टनकपुर नगर पालिका है। नगर पालिक से रिटायर्ड कर्मचारियों को पिछले तीन माह से पेंशन नहीं मिली है। पालिका अध्यक्ष से लेकर अधिकारी तक उनको आश्वासन देते रहे कि पेंशन मिल जाएगी, लेकिन तीन माह बाद भी जब उनको पेंशन नहीं मिली तो सभी सेवानिवृत्त कर्मचारी नगर पालिका में आ धमके और नगर पालिका के अधिकारी व कर्मचारियों को बंधक बना लिया। इस दौरान एक कर्मचारी बंधक बनने के डर से इतना डर गया कि उसने पहली मंजिल से छलांग लगा दी, जिससे उसका हाथ टूट गया। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पेंशनधारियों ने पालिका कार्यालय में तालाबंदी कर अधिकारियों और कर्मचारियों को करीब तीन घंटे तक बंधक बनाए रखा। बाद में प्रभारी ईओ तहसीलदार खुशबू पांडेय और नगर पालिका अध्यक्ष विपिन कुमार वर्मा ने किसी तरह उनको मनाया, तब जाकर पेंशनधारियों ने उन्हें छोड़ा। कर्मचारियों को डीएम से वार्ता के बाद एक सप्ताह के अंदर पेंशन भुगतान का भरोसा दिया गया है।

नगर पालिका के सेवानिवृत्त कर्मचारी पिछले तीन माह से पेंशन नहीं मिलने से परेशान हैं। उन्होंने आंदोलन का नोटिस थमाया तो बीते चार जून को ईओ का कार्यभार संभाल रही तहसीलदार खुशबू पांडेय ने वार्ता कर उन्हें जल्द पेंशन का भुगतान कराने का भरोसा दिया था। पांच दिन बाद भी पेंशन नहीं मिली तो पेंशनधारियों ने पालिका कार्यालय भवन के मेन गेट पर ताला लगा दिया। उन्होंने अधिकारियों और कर्मचारियों को बंधक बना लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here