डोईवाला : युवती की हत्या का खुलासा, नग्न अवस्था में मिला था शव, हिमालयन अस्पताल का कर्मचारी निकला हत्यारा

डोईवाला पुलिस ने युवती की हत्या का बीते दिन खुलासा किया। बता दें कि अगस्त में एक युवती का नग्नावस्था में शव जंगल में मिला था। उसके पिता ने बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। तबसे पुलिस इस मामले की जांच कर रही थी जिसका खुलासा पुलिस ने बुधवार को कर दिया है। पुलिस ने इस मामले में हिमालयन अस्पताल में नौकरी करने वाले एक कर्मचारी को गिरफ्तार किया है जिसने नौकरी का झांसा देकर युवती के साथ दुष्कर्म किया और फिर जब युवती ब्लैकमेल करने लगी तो आरोपी ने उसकी हत्या कर दी।

आपको बता दें कि 22 अगस्त को रानीपोखरी थाना क्षेत्र के जंगल में युवती का नग्नावस्था में शव बरामद हुआ था। पुलिस ने 15 दिन बाद युवती की शिनाख्त की थी। क्योंकि उस युवती के पिता ने 3 सितंबर को गुमशुदगी की रिपोर्ट डोईवाला थाने में दर्ज करवाई थी। बुधवार को पुलिस कार्यालय में एसएसनी जन्मेजय खंडूरी हत्या का खुलासा किया।

युवती को अस्पताल में नौकरी लगवाने का किया था वादा-आऱोपी

एसएसपी ने बताया कि युवती की शिनाख्त के बाद उसके मोबाइल नंबर की कॉल डिटेल निकाली गई। इसमें आरोपी गौतम पंवार निवासी चकचौबेवाला थाना रानीपोखरी से सबसे ज्यादा बार कॉल करने की बात सामने आई। जब गौतम से पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तो उसने सारा सच उगल दिया। आरोपी ने बताया कि वह हिमालयन अस्पताल में नौकरी करता था। जुलाई में ही युवती के संपर्क हुआ था। उसने युवती को अस्पताल में नौकरी लगवाने का वादा किया था और शारीरिक संबंध भी बनाए थे, लेकिन वह नौकरी नहीं लगवा पाया।

आरोपी ने बताया कि युवती उस पर दबाव बनाने लगी और ब्लैकमेल करने लगी। आरोपी ने बताया कि युवती ने उसे कहा कि वह दोनों के बारे में परिजनों और अस्पताल के मालिक को बता देगी। कहा कि इससे वह मानसिक दबाब में आ गया और युवती की हत्या की योजना बनाई। एसएसपी ने बताया कि 15 अगस्त को वह युवती को अपनी बाइक से थानो से धाराकोट रोड पर ले गया। जहां उसने झाड़ियों में चुन्नी से गला दबाकर युवती की हत्या कर दी। इसके बाद उसके कपड़े उतारकर एक बैग में डाले और 200 मीटर आगे जंगल में फेंक दिया। आरोपी को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया।

इसलिए उतारा मौत के घाट

आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने युवती के फोन का सिम जंगल में फेंक दिया था और फोन बंद करके अपने साथ घर ले आया। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर मृतका का फोन और घटना में प्रयुक्त हुए बाइक को भी बरामद कर लिया है। आरोपी ने बताया कि वह हिमालयन अस्पताल में 25 साल से नौकरी करता था, लेकिन युवती उसे ब्लेकमेल कर रही थी कि अगर उसने उसकी अस्पताल में नौकरी नहीं लगवाई तो वो दोनों के संबंधों के बारे में अस्पताल के मालिक और उसके परिवार वालों को बता देगी। नौकरी जाने के डर से उसने युवती को मौत के घाट उतार दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here