डॉक्टरों ने ऑपरेशन कर पेट से निकाली सौ से अधिक लोहे की कीलें, तार और छर्रे

क्या कोई लोहे की कीलों, लोहे के छर्रे और लोहे के तारों को खाने का भी शौक रख सकता है। ऐसा आमतौर पर सुनने में कम आता है लेकिन ऐसा हुआ है। राजस्थान के बूंदी जिले में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहां एक व्यक्ति की सर्जरी के बाद डॉक्टरों ने उसके पेट से 116 लोहे की कीलें, लोहे के छर्रे और लोहे के तार निकाले हैं। सोमवार को किए गए इस ऑपरेशन के बाद यह व्यक्ति पूरी तरह से स्वस्थ है।

डाक्टरों ने बताया कि मानसिक रूप से विक्षिप्त 42 वर्षीय भोला शंकर के पेट में लोहे की कीलें, छर्रे और तार कैसे आए, इस बारे में वह नहीं बता पा रहा है। हालांकि डॉक्टरों का कहना है कि भोला शंकर को लोहे का सामान खाने की आदत है जिसके कारण वह इन सामानों को निगल गया।

भोला शंकर के पिता मदनलाल ने बताया कि 20 साल पहले उनका बेटा बागवानी करता था। वह मानसिक विक्षिप्त हो गया तो उसने काम छोड़ दिया। उसे पेट में दर्द उठा तो वह उसे डॉक्टर के पास लेकर गए। डॉक्टरों ने जब भोला शंकर के पेट का स्कैन किया तो दंग रह गए। उसके पेट में कीलें, छर्रे और तार नजर आए।

टीम में शामिल जिला अस्पताल के डॉ. अनिल सैनी ने बताया कि कि भोला के पेट में कीलें, छर्रे और तार दूसरी बार कराए गए डिजिटल एक्सरे में साफ नजर आए। सीटी स्कैन में उसके पेट में कीलें दिखीं। डॉक्टरों ने उसे तुरंत सर्जरी कराने की सलाह दी।

डॉ. अनिल ने बताया कि भोला की लगभग डेढ़ घंटे तक सर्जरी चली और इस दौरान उसके पेट से लोहे का सारा सामान बाहर निकाला गया। डॉक्टरों ने बताया कि भोला के पेट से निकाली गई हर एक कील की लंबाई 6.5 इंच है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here