क्या आप जानते हैं सेना में रिटायर्ड कुत्तों को गोली मारकर उतार दिया जाता है मौत के घाट…तो जानिए

अगर बात की जाए वफादारी की तो सबसे पहले जो हमारी जुबां पर नाम आता है वो है कुत्तों का..हम सभी जानते है कि सबसे ज्यादा वफादारी की अगर बात आती है तो जहन में कुत्तों का ही नाम आता है..अधिकतर लोग घर की रखवाली के लिए कुत्तों को पालते है तो कई लोगों को कुत्ते पालने का शौक भी रखते हैं वह इस जानवर को परिवार के सदस्य के जैसे पालते हैं.

लेकिन अगर यही वफादार अगर आपकी मुसीबत का कारण बन जाए तो उस दौरान आप क्या करेंगे..जी हाँ आज हम आपको बताएंगे भारतीय सेना से जुड़ी खबर के बारे में, कि भारतीय सेना में क्यों कुत्ते के रिटायरमेंट होने पर सेना के ही लोग गोली मारकर कुत्ते की हत्या कर देते हैं.

तो चलिए आपको आज बताते है भारतीय सेना में ऐसा होने का कारण

आखिर क्यों मारते हैं रिटायर कुत्तों को

कुत्तों को रिटायरमेंट के बाद मारे जाने को लेकर एक व्यक्ति ने आरटीआई के जरिए जब जवाब मांगा, तब पता चला कि इसके पीछे सिक्योरिटी रीजन्स है।आर्मी का मानना है कि रिटायरमेंट के बाद कुत्ता कहीं किसी ऐसे आदमी को ना मिल जाए जिससे देश को हानि हो। दरअसल कुत्ते को आर्मी के हर गुप्त स्थान के बारे में पता होता है।

एक ये कारण भी हैं ऐसा करने का

इन सब के अलावा आर्मी ने ये बात भी बताई की अगर कुत्ते बीमार भी होते हैं तो उस दौरान उनका अचे ढंग से ट्रीटमेंट भी करवाया जाता हैं लेकिन उसके बाद अगर कोई कुत्ता ठीक नहीं होता हैं तो उसे मार दिया जाता हैं

आप को मालूम ही हैं के भली ही ये कुत्ते बेजुबान हो पर इनके अंदर भी जान तो होती ही हैं |सेना के पास इतना फण्ड तो होता ही हैं की वे इन कुत्तो का अच्छे से देखभाल कर सके क्यूंकि ये कुत्ते भी अपने देश के लिए ही काम कर रहे हैं

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here