एक्शन में DM रंजना राजगुरु, जिला पंचायत उपाध्यक्ष के बाद अब ग्राम प्रधान को दिया नोटिस

उधम सिंह नगर : ऊधमसिंह नगर जिलाधिकारी रंजना राजगुरु एक्शन में है। जिला पंचायत उपाध्यक्ष त्रिनाथ विश्वास पर मुकदमे के आदेश के बाद अब जिलाधिकारी ने ग्राम प्रधान को नोटिस जारी किया है। साथ ही कारण बताओं नोटिस जारी करते हुए पूछा की उन पर नियमों के अनुसार न चलने के चलते प्रधान पद से पृथक क्यों न कर दिया जाये।

जिलाधिकारी द्वारा ग्राम नजीमाबाद के ग्राम प्रधान द्वारा झूठा शपथ पत्र प्रस्तुत करने पर उनको कारण बताओ नोटिस भेजा है। जिलाधिकारी ने 15 दिनों तक जवाब दाखिल करने को निर्देश किया है। ग्राम नजीमाबाद निवासी एक व्यक्ति द्वारा ग्राम प्रधान गुंजा रानी के खिलाफ जनसुनवाई दिवस में डीएम को लिखित शिकायत कर कहा गया कि ग्राम प्रधान गुंजा रानी पत्नी अजय साहनी निवासी धौराडाम, नजीमाबाद द्वारा अपने पंचायत नजीमाबाद विकास खंड रुद्रपुर के प्रधान पद के नामाकंन पत्र में लगाए गए शपथ पत्र में सरकारी जमीन पर कब्जा नहीं होने दर्शाया था लेकिन नजीमाबाद तहसील किच्छा के खाता संख्या 115 में दर्ज गाटा संख्या 289, 293, 295, 297, 298, 301, 303 रकबा 104.168 है। भूमि जोकि वन विभाग के नाम में दर्ज है, जिस पर गुंजा रानी पत्नी अजय साहनी द्वारा कब्जा कर पक्का निर्माण किया गया है।  इस पर तहसीलदार किच्छा द्वारा आख्या प्रस्तुत कर खसरा नम्बर 289 रकबा 98.325 है, के मध्य आवासीय घर की पुष्टि भी की गयी है।

इस मामले में डीएम रंजना राजगुरू ने गुंजा रानी पत्नी अजय साहनी को कारण बताओ नोटिस देते हुए पूछा कि उन पर पंजायतीराज अधिनियम 2016 की धारा 138 के अंतर्गत उन्हें प्रधान पद से पृथक क्यों ना किया जाए। साथ ही 15 दिनों के भीतर जबाव नहीं देने पर उन्हें प्रधान से पद से पृथक करने की चेतावनी भी दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here