डीएम दीपक रावत एक्स्ट्रा स्मार्ट बन जाते हैं…देखिए किसने और क्यों कहा ऐसा

हरिद्वार- एनजीटी द्वारा गंगा में खनन पूर्णत: बन्द किए जाने के आदेश के बाद जहां एक ओर जिला प्रशासन ने आदेश की कॉपी प्राप्त होने के बाद गंगा एवम् उसकी सहायक नदियों में खनन अगले आदेश तक पूर्णत: बन्द किए जाने के आदेश दिए है| जिसके बाद वन​ विकास निगम द्वारा चलाये जा रहें सात खनन पट्टे तत्काल प्रभाव से बन्द ​कर दिए गये है।

वहीं आरोप लगाते हुए मातृ सदन ने जिला प्रशासन पर अवैध रूप से खनन चलाने की ऐवज में 500 करोड़ रूपये वसूले जाने की बात कही। मातृ सदन के स्वामी शिवानंद ने डीएम दीपक रावत के एक्स्ट्रा स्मार्ट बनने की बात कही.

2016 से एनजीटी में चल रहें वाद पर, एनजीटी द्वारा ​पिछली 26 फरवरी को आए आदेश के बाद लगभग एक हफ्ता बाद आखिर कार जिला प्रशासन ने गंगा एवम् उसकी सहायक नदीयों मे उत्तराखण्ड वन विकास निगम द्वारा चलाये जा रहें खनन को तत्काल प्रभाव से बन्द करने के आदेश दे ही दिए। जिसके बाद भी मातृ सदन की तल्खी जिला प्रशासन के खिलाफ कम होती नजर नहीं आ रही है। मातृ सदन ने एनजीटी के आदेश को दर​ किनार करते हुए खनन खोले जाने को लेकर जिलाधिकारी पर गंगा एवम् गंगा की सहायक नदियों पर लगभग 100 दिन खनन चलाये जाने पर हाईकोर्ट जाने के साथ-साथ 500 करोड़ के राजस्व की वसूली ​की बात कही.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here