जासूसी रैकेट का पर्दाफाश, 7 नौसेना कर्मी गिरफ्तार, अब फेसबुक-वॉट्सऐप नहीं चला पाएंगे जवान

इंडियन नेवी में जासूसी का मामला सामने आने के बाद नेवी ने बड़ा कदम उठाया है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि नेवी ने जवानों और अधिकारियों के लिए सोशल मीडिया के इस्तेमाल करने पर रोक लगा दी है। यानि नेवी ने सभी जवानों और अधिकारियों के फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सऐप और मैसेंजर के यूज पर बैन लगा दिया है. इसके अलावा ऑन बोर्ड शिप और नेवल एयरबेस पर स्मार्टफोन के उपयोग पर भी रोक लगाई गई है.

जासूसी रैकेट का पर्दाफाश, 7 नौसेना कर्मी गिरफ्तार

बताया जा रहा है कि नेवी ने यह कदम हाल ही पाकिस्तान के लिए जासूसी के इल्जाम में हुई नवी पर्सनल की गिरफ्तार के बाद उठाया है. बता दें कि खुफिया एजेंसी ने पाकिस्तान से संबंध रखने वाले एक जासूसी रैकेट का पर्दाफाश किया था. अधिकारियों ने 20 दिसंबर को इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि एजेंसी ने एक हवाला ऑपरेटर सहित नौसेना के 7 कर्मियों को गिरफ्तार किया है. उन्होंने कहा था कि ये गिरफ्तारियां देश के कई हिस्सों से की गई हैं. कई अन्य संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है.

आंध्र प्रदेश स्टेट इंटेलिजेंस विभाग ने केंद्रीय इंटेलिजेंस विभाग और नेवी इंटेलिजेंस की सहायता से ऑपरेशन ‘डॉल्फिन्स नोज’ चलाकर एक साथ संयुक्त रूप से इस रैकेट का भंडाफोड़ किया है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, आरोपियों को 20 दिसंबर को विजयवाड़ा में NIA की कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 3 जनवरी तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here