देहरादून : बिहारी महासभा के बैनर तले विश्वकर्मा पूजा का 18वां विशाल पूजनोत्सव

देहरादून के गोविन्दगढ़ में बिहारी महासभा की बैठक की गई. बैठक का उद्देश्य भगवान विश्वकर्मा के पूजा से सम्बंधित चर्चा को लेकर किया गया. बताते चले की विश्वकर्मा को सृष्टि के निर्माणकर्ता के रूप में जाना जाता है। आविष्कार और निर्माण कार्यो के लिये भगवान विश्वकर्मा को अग्रणी माना जाता था। उन्होंने समाज को एकत्र करने और विकसित करने का कार्य किया था। ये सभी समाज को आपस में जोड़ने का कार्य करते थे इसी भगवान विश्वकर्मा की पूजा 17 सितम्बर को आयोजित की जाती है।

इसी क्रम में बिहारी महासभा द्वारा 17 तारीख को विश्वकर्मा पूजा को बड़े धूमधाम से मनाया जायेगा। पहले से ही कार्यक्रम की पूरी रूपरेखा तैयार की जा रही है। सभा के प्रत्येक सदस्यों को कार्यक्रम को सफल बनाने की जिम्मेदारी दी गई है। परेड ग्राउंड के प्रांगण में विश्वकर्मा पूजा का 18वां विशाल पूजनोत्सव का आयोजन किया जायेगा। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी यह आयोजन 17 सितम्बर 2018 को किया जायेगा। कार्यक्रम में हजारों की संख्या में भक्त एवम श्रद्धालुओं के लिये प्रसाद एवम भंडारे की व्यवस्था की जायेगी। कार्यक्रम का केन्द्र बिन्दु बिहार से आनवाली भोजपुरी गायिका देवी और उनके साथ आनेवाले सभी कलाकार रहेंगे।

उनके द्वारा लोकनृत्य, सांस्कृतिक कार्यक्रम एवम् धार्मिक गीत प्रस्तुत किये जायेंगे। उक्त कार्यक्रम में उत्तराखंड के राजनेता, वरिष्ट आईएस, ब्यूरोक्रेट्स, पुलिस विभाग के बड़े अधिकारी एवम् राज्य के कई विशिष्ट अधिकारी शामिल होंगे। र्कायक्रम बिहारी महासभा पंजीकृत के बैनर तले आयोजित किया जायेगा। जिसकी विधिव्यवस्था, आय व्यय सभी बहुत महत्वपूर्ण विष्यों को बिहारी महासभा के अंतर्गत रखा गया है।

आपको यह भी बताते चलें कि बिहारी महासभा की स्थापना के लगभग 10 वर्ष पूरे होने को हैं। स्थापना के पश्चात् महासभा द्वारा प्रतिवर्ष नियमित रूप से छठ् एवं सरस्वती पूजा का आयोजन किया गया है। इनके अतिरिक्त समय-समय पर पारिवारिक मिलन कार्यक्रम, बच्चों से संबंधित कार्यक्रम आदि का भी आयोजन किया जाता रहा है।

सभा के सचिव चन्दन कुमार झा ने बताया कि विश्वकर्मा पूजा के आयोजन के लिये बिहारी महासभा की ओर से बैठक का आयोजन किया गया। विश्वकर्मा पूजा कार्यकारिणी समीति में विनय कुमार यादव को पूजा संबंधी सभी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई, इनके साथ भरत ठाकुर, धर्मेन्द्र शर्मा को प्रसाद एवम पूजा व्यवस्था की जिम्मेदारी दी गई। कार्यक्रम व्यवस्था में गणेश साहनी, उमेश यादव, सुरेश ठाकुर, विजय पाल को लगाया गया।

विश्वकर्मा पूजा से संबंधित आय व्यय के व्यवस्था को देखने के लिये रवि यादव, दिनेश शर्मा को लगाया गया। कार्यक्रम सहयोगी के रूप में राजीव कुमार, कामेश्वर साहनी, मनोज ठाकुर, अनिल कुमार, अजय कुमार, नागेश्वर को लगाया गया। बिहारी महासभा में निर्णय लिया गया कि आगे आने वाले प्रत्येक साल विश्वकर्मा पूजा को इसी प्रकार धुमधाम से मनाया जायेंगा। जिसका सम्पूर्ण्ा संचालन सभा द्वारा किया जायेगा।

बैठक में सभा की ओर से कोषाध्यक्ष सीए रितेश कुमार, राजेश कुमार, राकेश रंजन, ललन सिंह, आलोक सिंन्हा, जनरंजन सिंह, सतेन्द्र सिंह, चंदन कुमार झा एवम् सैकड़ों की संख्या में बिहारी महासभा के कार्यकर्ता मौजुद रहे। सभा के मेंबर ललन सिंह को बिस्वकर्मा पुजा के लिए संयोजक न्युक्त किया गया है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here