देहरादून : रेड लाइट जंप करना नहीं होगा आसान, फोन पर पहुंच जाएगा चालान, MOU साइन

देहरादून : रेड लाइट जंप करने वालों या ओवर स्पीडिंग करने वालों को लेकर दून पुलिस सख्त हो गई है। जी हां अब नियम तोड़ने वाले चालक के मोबाइल नंबर पर तुरंत ही मैसेज के जरिये चालान पहुंच जाएगा। देहरादून पुलिस रेड लाइट जंप औऱ ओवर स्पीडिंग करने वालों के खिलाफ एक्शन लेने के लिए एक नई तकनीक निकाली है जिसके लिए एसबीआई और देहरादून एसएसपी अरुण मोहन जोशी के बीच एमओयू साइन हुआ है। बता दें कि अब RLVD/SVDS चालानों के ऑन लाइन भुगतान की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए दून पुलिस और भारतीय स्टेट बैंक के बीच एमओयू साइन किया गया है जिससे अब आप घर बैठे चालान का भुगतान कर सकेंगे। इसके लिए आपको मैसेज आएगा।

आपको बता दें कि ITMS यानी की Intelligent Traffic Management system प्रणाली के तहत देहरादून शहर में अब तक RLVD/SVDS सिस्टम से प्रतिदिन हो रहे रेड लाइट जम्प और ओवर स्पीड के चालानों का वर्तमान समय में देहरादून यातायात पुलिस ने मैन्युअल रूप से सम्बन्धित वाहन स्वामी का नाम पता पता कर उपलब्ध पते पर नोटिस भेजा जाता था लेकिन उसके बाद ही वाहन चालक द्वारा सूचित होने की स्थिति में चालान का भुगतान के लिए उपलब्ध एकमात्र विकल्प यातायात कार्यालय में आकर भुगतान जमा कराते थे। लेकिन इसमे दूर दराज प्रदेशों के वाहन चालकों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। इन चालानों के भुगतान का ऑनलाइन विकल्प उपलब्ध न होने से हमेशा असमंजस की स्थिति बनी रहती है। लेकिन अब ये दुविधा दूर कर दी गई है।

डीआईजी और एसबीआई के बीच एमओयू साइन

जी हां बता दें कि देहरादून यातायात पुलिस अधीक्षक प्रकाश चन्द्र ने समस्या के समाधान के लिए ऐसे चालानों के भुगतान के लिए पूर्व में देहरादून यातायात पुलिस के प्रयोजन के लिए पृथक रूप से नई बेवसाइट https://dehraduntrafficpolice.uk.gov.in जारी की जिसमें वाहन चालकों के लिए PAY SVDS CHALLAN भुगतान का विकल्प मौजूद रहेगा। व्यवस्था शुरु करने के लिए लम्बी प्रक्रिया के बाद अब तकनीकी /व्यवहारिक मापदंडों को पूरा कर डीआईजी-देहरादून एसएसपी अरूण मोहन जोशी और देहरादून भारतीय स्टेट बैंक के असिस्टेंट जनरल मैनेज गगन कुमार के बीच ऑन लाइन चालानों के भुगतान के लिए सहमति बनी औऱ एमओयू साइन किया गया।

वहीं अब से देहरादून शहर में RLVD/SVDS सिस्टम से प्रतिदिन हो रहे रेड लाइट जम्प और ओवर स्पीड के चालानों के वाहन स्वामियों को चालान होने की जानकारी एसएमएस से दी जाएगी और चालान की भुगतान प्रक्रिया का लिंक भी एसएमएस के माध्यम से खुद मिल जाएगा जिसका प्रयोग करते हुए वाहन चालक घर बैठे भुगतान कर सकेगा औऱ जमा धनराशि की प्राप्ति रसीद का प्रिन्ट भी प्राप्त कर सकता है जो प्रमाणित है और इस प्रक्रिया के प्रयोग से वाहन चालक/स्वामी को किसी प्रकार की असुविधा का सामना नहीं करना पड़ेगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here