देहरादून : पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने खोला छात्र वासु की हत्या का राज, एक और बड़ा खुलासा

देहरादून के रानीपोखरी स्थित चिल्ड्रन होम एकेडमी में पढ़ने वाले छात्र की हत्या स्कूल के दो बैटों और विकेट से पीटकर की थी। पुलिस ने घटना खुलासा करते हुए हत्यारोपी समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें स्कूल का वार्डन और 1 शिक्षक भी शामिल है। घटना में प्रयुक्त बैट और अधजले विकेट भी बरामद कर लिए हैं।

एक और बड़ा खुलासा, डेढ़ साल पहले हुआ था छात्र गायब

वहीं इसी स्कूल के खिलाफ एक और बड़ा खुलासा हुआ है. मिली जानकारी के अनुसार इसी एकेडमी से डेढ़ साल पहले भी एक छात्र गायब हो गया था, जिसका अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है। इस एकेडमी में हो रही इस तरह की घटनाओं से कई सवाल खड़े हो रहे हैं। जानकारी के अनुसार करीब डेढ़ साल पहले 20 अक्टूबर 2017 को चिल्ड्रन होम एकेडमी से 22 सदस्यीय दल भोपगुर-इठारना से करीब 14 किलोमीटर ऊपर कखुई-चोबन पहाड़ी पर ट्रैकिंग के लिए गया था।

ट्रैकिंग के लिए गया था ग्रुप, छात्र मोहन महतो था लापता

रात को दल के सभी सदस्य जंगल में बनाए गए कैंप में वापस लौट गए थे, जबकि एक छात्र मोहन महतो(18 वर्ष) पुत्र मधुसूदन महतो कैंप में वापस नहीं लौटा। छात्र की तलाश में पुलिस ने एसडीआरएफ की मदद से कई दिनों तक जंगल में छानबीन की गई लेकिन आज तक उसका कुछ पता नहीं चल पाया। आपको बता दें कि ये क्षेत्र टिहरी जनपद के आगराखाल पुलिस चौकी के अंतर्गत आता है। लिहाजा इस संबंध में टिहरी जनपद में ही मुकदमा दर्ज किया गया था। बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष ऊषा नेगी ने बताया कि टिहरी पुलिस से मोहन महतो की जांच रिपोर्ट भी मंगाई गई।

कक्षा 7 के छात्र वासु ने चुराया बिस्कुट का पैकेट

वासु मामले में मंगलवार देर रात घटना का खुलासा करते हुए रानीपोखरी थानाध्यक्ष पीडी भट्ट ने बताया कि 10 मार्च को चिल्ड्रन होम एकेडमी भोगपुर में पढ़ने वाले कुछ छात्र स्कूल के समीप चर्च गए थे. इसी बीच रास्ते में पड़ने वाली एक दुकान से कक्षा 7 के छात्र वासु ने बिस्कुट का पैकेट चुरा लिया, जिसकी सूचना दुकानदार लेखपाल सिंह रावत ने चर्च के स्टाफ को दी, जिस पर स्टाफ ने वासु को डांटा और सभी छात्रों को बिना अनुमति के आउटपास जाने से रोकने को कहा।

बात रास नहीं आई सीनियर छात्रों को, कई जुल्म करके की हत्या

बस फिर क्या था ये बात सीनियर छात्रों को रास नहीं आई और उन्होंने हॉस्टल आकर वासु यादव पुत्र झपटू यादव निवासी विवेकानंद कुष्ठ आश्रम, दिल्ली रोड हापुर फाटक, मेरठ की बैट और विकेट से बेरहमी से पिटाई कर दी। यही नहीं उसे छत पर ले जाकर ठंडे पानी नहलाया। गंदा पानी पिलाया और दोबारा उसके साथ मारपीट की जिससे वह बेहोश हो गया। सीनियर छात्र उसे बेहोशी की हालत में स्टडी रूम में छोड़ कर चले गए।

स्कूल प्रबंधन ने कराया वासु को हिमालयन अस्पताल में भर्ती 

पुलिस ने बताया कि छात्र की हालत बिगड़ने पर स्कूल प्रबंधन ने उसे हिमालयन अस्पताल में भर्ती कराया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. घटना पर पर्दा डालने के लिए वार्डन और शिक्षक ने  मृत छात्र को स्कूल में ही दफना दिया. छात्र की संदिग्ध मौत का मामला संज्ञान में आने के बाद पुलिस ने मृतक छात्र का दोबारा ऋषिकेश एम्स में  पोस्टमार्टम कराया, जिसमें उसकी मौत की वजह शरीर में गंभीर चोट लगने और अत्यधिक रक्तस्राव होने की पुष्टि हुई.

मामले की तह तक पहुंचने के लिए जांच में जुटी पुलिस ने आरोपी छात्र शुभंकर पुत्र गंगाधर, निवासी एमडीडीए कॉलोनी, डालनवाला देहरादून, लक्ष्मण पुत्र मदन राय, निवासी परमानंद भठिंडा पंजाब सहित साक्ष्य छुपाने के आरोप में स्कूल के प्रबंधक प्रवीण मेसी पुत्र जगत सिंह, निवासी बुआंखाल पौड़ी गढ़वाल, वार्डन अजय कुमार पुत्र असीम कुमार निवासी चिल्ड्रन होम एकेडमी और  शिक्षक अशोक सोलोमन पुत्र सोनाराम निवासी परमानंद भठिंडा पंजाब हाल निवास चिल्ड्रन हॉम एकेडमी ,भोगपुर को गिरफ्तार किया है । कड़ी पूछताछ में आरोपियों ने घटना में शामिल होने का जुर्म कबूला है.

केवल अपनी स्कूल की साख बचाने के लिए स्कूल प्रबंधन अपराध पर अपराध कर रहा है

वहीं एक बार फिर से स्कूल के खिलाफ नया खुलासा हुआ है जिसमें सामने आया कि इसी स्कूल से एक और छात्र लापता है…जो कहां है,उसके साथ क्या हुआ किसी को नहीं पता. इससे स्कूल प्रबंधन पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं. केवल अपनी स्कूल की साख बचाने के लिए स्कूल प्रबंधन अपराध पर अपराध कर रहा है लेकिन पुलिस कुछ भी नहीं कर पाई. औऱ इसमें कई हद तक गलती अभिभावक की भी है..डेढ़ साल से लापता बच्चे के बारे में क्या उन्होंने जानने की कोशिश नहीं की?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here