देहरादून : पेटीएम KYC अपडेट कराने के नाम पर खाते से उड़ाए लाखों रुपये, आप रहें सावधान

देहरादून : उत्तराखंड में साइबर ठगी के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। सोशल मीडिया के जरिए ठगी, एटीएम क्लोन कर ठगी के कई मामले सामने आ चुके हैं जिसमे कई आऱोपी गिरफ्तार भी हो चकुे हैं। वहीं पेटीएम केवाईसी अपडेट कराने के नाम पर एक छात्रा के बैंक खातों से साढ़े चार लाख रुपये उड़ाने का मामला देहरादून से सामने आया है।

केवाईसी अपडेट के नाम पर लाखों की ठगी

जानकारी मिली है कि केवाईसी अपडेट के लिए हैकर ने युवती से मोबाइल पर पहले एक सॉफ्टवेयर डाउनलोड कराया। फिर केवाईसी फीस के नाम पर वालेट में बैंक खाते से एक रुपये जमा करने को कहा। युवती के ऐसा करने के कुछ देर बाद ही उसके दो बैंक खाते खाली हो गए। युवती की तहरीर पर रायपुर थाना पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

कॉल की और एक रुपये कटने के बाद कटे लाखों रुपये

पुलिस से जानकारी मिली कि रायपुर के तिरुपति एनक्लेव निवासी टीना गुप्ता ने बताया कि मंगलवार को उनके पास एक फोन आया। फोन करने वाले ने खुद को पेटीएम का कर्मचारी बताते हुए कहा कि आपके वालेट की केवाईसी अपडेट नहीं है। इसे तत्काल अपडेट कर लीजिए, वरना वालेट की सेवाएं बंद कर दी जाएंगी। टीना ने उससे इसकी प्रक्रिया पूछी। इसपर हैकर ने कहा कि सबसे पहले उन्हें अपने मोबाइल पर क्विक सिक्योरिटी नाम का सॉफ्टवेयर डाउनलोड करना होगा। इसके साथ ही हैकर ने कुछ देर बार दोबारा कॉल करने की बात कहते हुए फोन काट दिया। टीना ने उसके बताए अनुसार अपने मोबाइल में सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर लिया। करीब 10 मिनट बाद हैकर ने फिर कॉल की और टीना से दूसरा नंबर देने को कहा। जिससे वह उस नंबर पर बात करते हुए केवाईसी अपडेट करने की प्रक्रिया बता सके।

हैकर बोला- अपने किसी बैंक खाते से पेटीएम वालेट में एक रुपये ट्रांसफर करे

इसपर टीना अपनी मां के फोन से हैकर से बात करने लगी। केवाईसी अपडेट करने के लिए हैकर ने टीना से कहा कि अपने किसी बैंक खाते से पेटीएम वालेट में एक रुपये ट्रांसफर करे। यह केवाईसी की फीस होगी। टीना ने पीएनबी के अपने अकाउंट से पेटीएम वालेट में एक रुपया जमा कर दिया। इस दौरान हैकर ने उससे एटीएम कार्ड की जानकारी भी ले ली। इसके थोड़ी देर बाद टीना के बैंक खाते से 45 हजार रुपये कट गए। टीना ने दोबारा फोन कर रकम कटने के बारे में पूछा तो हैकर ने कहा कि थोड़ी देर बाद यह रकम उनके आइसीआइसीआइ बैंक के खाते में भेज दी जाएगी। लेकिन, थोड़ी देर बाद उनके आइसीआइसीआइ बैंक के खाते से भी चार लाख रुपये ट्रांसफर कर लिए गए।

रायपुर पुलिस ने हैकर की कॉल डिटेल मांगी है। पुलिस के अनुसार अभी तक की जांच में पता चला है कि टीना को पूर्वोत्‍तर के किसी राज्य से फोन किया गया था। रकम भी वहीं किसी बैंक की शाखा में ट्रांसफर की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here