देहरादून : बिगड़ेगा खाने का स्वाद, प्याज के निर्यात पर लगी रोक

 

प्याज…जिसका इस्तेमाल लोग हर सब्जी में करते हैं जो खाने का स्वाद बढ़ाता है और साथ ही सलाद के रुप में भी लोग प्याज को खूब पसंद करते हैं लेकिन इन दिनों लोगों के खाने के स्वाद को प्याज ने बिगड़ा दिया है क्योंकि प्याज 50 से 80 रुपये किलो देश भर में बिक रहा है। कहीं प्यार 50 तो कहीं 60 और 70-80 रुपये किलों बिक रहा है। जायके का तड़का और स्वाद औऱ बिगड़ेगा क्योंकि केंद्र सरकार ने सोमवार को प्याज की सभी किस्मों के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी। सरकार ने यह फैसला देश में प्याज की उपलब्धता को बढ़ाने और घरेलू बाजार में इसकी लगातार बढ़ती कीमत को नियंत्रित करने के लिए लिया है। विदेश व्यापार महानिदेशालय की ओर से जारी एक अधिसूचना में कहा गया कि प्याज की सभी किस्मों के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगाया जाता है। डीजीएफटी वाणिज्य मंत्रालय का अंग है जो आयात-निर्यात संबंधी मामलों को देखता है। भारत ने अप्रैल-जून के दौरान 19.8 करोड़ डॉलर के प्याज का निर्यात किया। वर्तमान में प्याज 50 से लेकर 80 रुपये किलो बिक रहा है जिसने लोगों के खाने का स्वाद बिगाड़दिया है और ये स्वाद और बिगड़ेगा।

हालांकि बाहर प्याज निर्यात रोकने से देश में प्याज के दाम में गिरावट आने की उम्मीद है लेकिन कोरोना काल में लोगों को प्याज सस्ती मिलने की उम्मीद कम दिख रही है।

जी हां बता दें कि प्याज की बढ़ती कीमतों को देखते हुए केंद्र सरकार ने सोमवार को इसके निर्यात पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है। विदेश व्यापार महानिदेशालय के नोटिफिकेशन में हर किस्म की प्याज के निर्यात को पाबंदी के दायरे में लाया गया है। अब तक प्याज की हर किस्मों का निर्यात किया जा रहा था। वर्तमान में प्याज के दाम 80 रुपए तक चल रहे हैं। वहीं देहरादून निरंजनपुर मंडी के आढ़ती का कहना है कि केंद्र सरकार ने सही समय में यह सही कदम उठाया है। इस कदम से आगे चल कर प्याज के दाम स्थिर हो जायेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here