देहरादून: अस्पताल के बाहर मेडिकल स्टोर में बिकती हैं नशीली दवाएं, कहीं डाॅक्टरों की मिलीभगत तो नहीं

देहरादून: औषधि नियंत्रण विभाग ने लोगों की शिकायत पर देहरादून में महंत इंद्रेश अस्पताल के बाहर के मेडीकल स्टोरों में छापेमारी कर नशीली दवाएं पकड़ी है। इन दुकानों पर डॉक्टर के पर्चे के बिना ही नशीली दवाएं बेचने का मामला सामने आया है। टीम ने दवा की दुकानों पर छापा मारा। दो दुकानों पर खरीद-बिक्री पर रोक लगा दी है। इनके लाइसेंस रद्द करने की भी सिफारिश की जाएगी।

शिकायत मिली थी कि देहरादून क्षेत्र में कुछ कैमिस्ट साइकोट्रॉपिक दवाओं को नशे के लिए बेच रहे हैं। इस पर औषधि नियंत्रक ताजबर सिंह ने ड्रग इंस्पेक्टर को गोपनीय जांच के आदेश दिए। शिकायत सही मिलने पर उन्होंने देहरादून के ड्रग इंस्पेक्टर नीरज कुमार, हरिद्वार की ड्रग इंस्पेक्टर अनिता भारती और एमएस राणा को कार्रवाई के निर्देश दिए। शनिवार शाम तीनों ड्रग इंस्पेक्टर की टीम ने पटेलनगर स्थित श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के बाहर दवा की दुकानों पर छापे मारे।

सिमरन फार्मेसी और गुरुकृपा दवा स्टोर में फार्मेसिस्ट नहीं मिले। दवाओं को निर्धारित मूल्य से अधिक पर बेचे जाने का भी पता चला। इन दुकानों से टीम ने एंटी बॉयोटिक, एंटी कोल्ड, कफ, विटामिन दवाओं के सैंपल भी लिए। दोनों दुकानों में दवाओं की खरीद-बिक्री पर रोक लगा दी है। दोनों दवा स्टोर के लाइसेंस रद्द करने के लिए लाइसेंसिंग अथॉरिटी को लिखा जा रहा है। इसी तरह, साईं कृपा और ब्रदर्स दवा स्टोर में भी कई दवाओं की बिक्री के बिल नहीं थे। इस पर दोनों के संचालकों को चेतावनी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here