देहरादून : 28 वर्षीय मरीज की ऑपरेशन के दौरान मौत, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

उत्तराखंड में आए दिन निजी अस्पतालों के मनमानी और दुर्व्यवहार के मामले सामने आते रहे हैं…जिससे स्वास्थय विभाग की खूब किरकिरी भी हुई. कई बार अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही के चलते मासूमों की जान गई लेकिन अस्पताल प्रबंधन को किसी की जान से कोई मतलब नहीं बल्कि मतलब है तो सिर्फ मोटी फीस रकम से.

अस्पताल प्रबंधन पर इलाज में लापरवाही का आरोप

जी हां ऐसा ही मामला देहरादून गढ़ी कैंट थाना क्षेत्र के एक निजी अस्पताल सिनर्जी अस्पताल का है. जहां पर एक मरीज के परिनज ने अस्पताल प्रबंधन पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए अस्पताल परिसर में जमकर हंगामा किया और धरना दिया.

डाक्टरों द्वारा की गई बेटे की हत्या-परिजन

दरअसल परिजनों का आरोप है की उनके बेटे की जान अस्पताल के डॉक्टरों की लापरवाही के कारण गयी. परिजनों का कहना है कि उनके बेटा यहां घूमने आया था वो बिल्कुल ठीक था. उसे पेट में दर्द हुआ जिसके बाद सिनर्जी लाया गया जहां उसकी बिमारी को बढ़ाचढ़ाकर बताया गया. परिजनों ने इलाज के दौरान मौत नहीं हुई बल्कि डाक्टरों के द्वारा हत्या करने का आरोप लगाया।

मृतक आशुतोष कुमार बैंक में थे कार्यरत

बताते चलें कि आशुतोष कुमार(28 साल) हरिद्वार के ज्वालापुर के रहने वाले थे औऱ बैंक में कार्यरत थे…जो की 18 मार्च को पेट दर्द की शिकातय पर सिनर्जी अस्पातल लाए गए थे लेकिन इलाज के दौरान बीती रात यानी की मंगलवार को आशुतोष की मौत हो गयी.

पैसे एंठने के चक्कर में डॉक्टरों ने बिमारी को बढ़ा चढ़ाकर बताया-परिजन

वहीं इसके बाद मृतक के परिजनों ने अस्पताल में जनकर हंगामा किया औऱ आरोप लगाया कि पैसे एंठने के चक्कर में डॉक्टरों ने बिमारी को बढ़ा चढ़ाकर बताया औऱ ऑपरेशन की बात कही. साथ ही अस्पताल वालों ने युवक से पूछा की वो क्या काम करता है जिस पर बताया गया कि बैंक में कार्यरत है. परिजनों का आरोप है कि ये सुनते ही अस्पताल वालों ने अच्छा मुर्गा फंसने की सोचते हुए ऑपरेशन का ढोंग रचा.

डाक्टरों ने बताई आशुतोष को हार्ट की प्रोब्लम

वहीं अस्पताल लाने पर डाक्टरों ने आशुतोष को हार्ट की प्रोब्लम बता कर उसका ऑपरेशन करने की बात कही जिस पर परिजनों ने हामी भर दी. जिसके बाद ऑपरेशन के दौरान आशुतोष की मौत हो गयी. मृतक के परिजनों का कहना है कि अस्पताल ने ज्यादा पैसे ऐंठने के लालच में जबरदस्ती ऑपरेशन किया और हमारे बेटे की मौत हो गयी…फिलहाल परिजनों ने थाना कैंट में अस्पताल के खिलाफ तहरीर दर्ज कराई है.

एसपी का बयान

वहीं पूरे मामले पर एसपी सिटी श्वेता चौबे का कहना है की मृतक का पोस्टमार्टम निष्पक्षता के साथ कराया जा रहा है जिसके बाद जो भी दोषी पाया जाएगा उसे पर आगे की आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here