देहरादून breaking : दारोगा पर बड़ी कार्रवाई, डीजीपी ने किया निलंबित

देहरादून पुलिस महकमे से बड़ी खबर है। बता दें कि डीजीपी के आदेश पर एक दारोगा को निलंबित कर दिया गया है। जी हां बता दें कि एक मुकदमें में लापरवाही बरतने पर देहरादून के उपनिरीक्षक सनोज कुमार को निलम्बित कर दिया गया है।

आपको बता दें कि देहरादून निवासी डॉ. पीयूष मित्तल ने 25 नवम्बर को  डीजीपी अशोक कुमार को शिकायती प्रार्थना पत्र भेजा, जिसमें उन्होंने बताया कि 4 नवम्बर को शिवाजी धर्मशाला के पास उनके ससुर को दो व्यक्तियों ने तेजी और लापरवाही से स्कूटी से टक्कर मारकर गिरा दिया, जिससे उनकी मौत हो गयी। इस सम्बन्ध में उनके द्वारा अभियोग पंजीकृत कराया गया था और साथ में एक दुकान से मिले सीसीटीवी फुटेज भी निकाल कर दिए, जिसमें पुलिस को अभियुक्तों का फोटो भी मिल गया था लेकिन अभी तक पुलिस द्वारा किसी भी अभियुक्त को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

गंभीर घटना होने पर भी उसका संज्ञान न लेने, अभियोग देर से पंजीकृत करने और कार्यवाही करने में विलम्ब करने पर डीजीपी अशोक कुमार ने उपनिरीक्षक सनोज कुमार को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर पुलिस अधीक्षक, नगर से प्रकारण की निष्पक्ष जांच कराने के लिए देहरादून एसएसपी को निर्देशित किया गया।

डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि अपराध के घटित होने पर पीड़ित व्यक्ति पुलिस थाने पर पुलिस से वैधानिक कार्यवाही हेतु अनुरोध करता है। पीड़ित को रिलीफ मिले इसके लिए पुलिस द्वारा विधि अनुसार तत्काल थाने पर प्राथमिकी दर्ज कर पीड़ित व्यक्ति को वैधानिक सहायता उपलब्ध कराते हुए अपराधियों के विरुद्ध तत्परता से शीघ्र कार्यवाही की जानी चाहिए। जिससे पीड़ित का पुलिस पर विश्वास बना रहे और आम जनमानस में पुलिस की सकारात्मक छवि बने। समय-समय पर पुलिस मुख्यालय से इस सम्बन्ध में दिशा-निर्देश जारी होते रहते हैं, इसके बावजूद भी एक ऐसा दृष्टांत सामने आया है जो अत्यन्त आपत्तिजनक और बिल्कुल भी स्वीकार्य नहीं है। जो भी पुलिसकर्मी ड्यूटी में ढिलाई बरतेगा उसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here