एंबुलेंस बुक की ओर यूपी भेज दी डेड बॉडी, बॉर्डर से वापस लाई उत्तराखंड पुलिस, जानें क्यों ?

रुड़की : पुहाना किशनपुर में नामी कम्पनी पंचवटी में संदिग्ध परिस्थितियों में एक मजदूर की मौत हो गई. जिसके बाद आनन-फानन में कम्पनी प्रबन्धन ने मज़दूर का शव एम्बुलेंस में रखकर उसके घर भेजने की तैयारी शुरू कर दी। दरअसल, सुबह कंपनी में एक मजदूर की मौत हो गयी थी, परिजनों के अनुसार कंपनी प्रबंधन ने अस्पताल भेजने के नाम पर मृतक के शव को एम्बुलेंस में रखकर गांव ले जाने के लिए कह दिया. पिलिस के अनुसार मामले की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने एम्बुलेंस को यूपी की सीमा से वापस रुड़की बुलाया.
मृतक के परिजनों को पता चला कि मृतक को उसके घर भेजा जा रहा है, जिसके बाद मृतक का भाई एम्बुलेंस को रूड़की के सरकारी अस्पताल के बाहर ले आया और अन्य परिजनों को सूचना दी. मृतक के परिजन का आरोप है कि कंपनी प्रबंधन की तरफ से डराया धमकाया गया है। इस पूरे मामले में सीओ रूड़की चंदन सिंह बिष्ट का कहना है कि आज सुबह पंचवटी कंपनी में रुड़की इटावा निवासी कर्मचारी की मौत हो गई थी, जिसके बाद कंपनी प्रबंधन ने शव को उसके गांव के लिए भेज दिया था. लेकिन, पुलिस के संज्ञान में आने के बाद एम्बुलेंस को बॉर्डर से वापस करवा दिया गया. सरकारी अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा, जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.
परिजनों का कहना है कि बिना पोस्टमार्टम के ही शव को भेजा रहा था. जबकि नियमानुसार पोस्टमार्टम होना चाहिए था. उनका कहना है कि उसको पहले से कोइ दिक्क्त नहीं थी, फिर अचानक मौत कैसे हो गयी. परिजनों ने ये भी सवाल उठाया है कि कम्पनी वाले शव को सीधे बगैर पोस्मार्टम के घर क्यों भेजना चाहते थे.उन्होंने पुलिस से मामले की जाँच करने की मांग की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here