CS ने की केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों की समीक्षा, बद्रीनाथ का सर्वे तय समय पर पूरा करने के निर्देश

 

 

देहरादून : मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने सचिवालय में बद्रीनाथ-केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों की समीक्षा की। मुख्य सचिव ने केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिए कि केदारनाथ और बद्रीनाथ पुनर्निर्माण कार्यों को निर्धारित समय सीमा के अन्दर पूर्ण कर लिया जाए। उन्होंने सभी कार्यों में गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिए जाने के भी निर्देश दिए।

सचिव लोनिवि आर सुधांशु ने बताया कि केदारनाथ के लिए नए मशीनी उपकरणों को एयरलिफ्ट कर लिया गया है, जो 17 नवम्बर तक असेम्बल कर लिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि केदारनाथ में 3 गुफाओं का निर्माण कार्य भी पूर्ण हो चुका है। बताया गया कि केदारनाथ हैलीपैड के पास 50 फेब्रीकेटेड दुकानों का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने तीनों गुफाओं को 11 नवम्बर तक गढवाल मंडल विकास निगम को हैंडओवर करने के निर्देश दिए।

उन्होंने सोनप्रयाग की पार्किंग क्षमता वृद्धि कार्य को 31 दिसम्बर तथा सीतापुर में नवीन पार्किंग स्थल निर्माण की फाईनेंशियल बिडिंग का कार्य 15 नवम्बर तक पूर्ण करने के भी निर्देश दिए। मुख्य सचिव ने लोनिवि को केदारनाथ में आवश्यक स्टाफ की शीघ्र तैनाती करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि केदारनाथ में फेज-2 के कार्यों की निविदा आबंटन का कार्य शीघ्र पूर्ण कर लिया जाए। उन्होंने कहा कि मंदाकिनी नदी पर बनने वाले 60 मीटर पुल को दिसम्बर तक पूर्ण कर लिया जाए। मुख्य सचिव ने बद्रीनाथ में रोड शिफ्टिंग के कार्य हेतु लोनिवि एवं बीआरओ द्वारा संयुक्त सर्वेक्षण करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि इसका फीजिबिलिटी टेस्ट और हिमस्खलन सम्भावित क्षेत्र में रोड की सुरक्षा समाधान के लिए तकनीकी सलाह लेने के भी निर्देश दिए। मुख्य सचिव ने मंदाकिनी फ्लड ज़ोन एवं अलकनन्दा फ्लड ज़ोन कार्य में तेजी लाने के निर्देश देते हुए इसे ससमय पूर्ण करने की बात कही। मुख्य सचिव ने सचिव राजस्व को भूमिधरी अधिकार का शासनादेश शीघ्र जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने बद्रीनाथ मास्टर प्लान हेतु आवश्यक सर्वे की अद्यतन स्थिति की भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि बद्रीनाथ पुनर्निर्माण हेतु आवश्यक सर्वे हेतु समय सीमा निर्धारित करते हुए सर्वे का कार्य शीघ्रातिशीघ्र पूर्ण करवा लिया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here