बड़ी खबर। कर्णप्रयाग के 50 मकानों में आईं दरारें, दहशत में लोग

KARNAPRAYAG NEWSउत्तराखंड के चमोली जिले में जोशीमठ के बाद अब कर्णप्रयाग में भी भू-धसाव शुरू हो गया है। मिली जानकारी के मुताबिक कर्णप्रयाग नगर पालिका के बहुगुणा नगर में मौजूद करीब 50 घरों में दरार देखी जाने लगी है। अब कर्णप्रयाग के लोगों ने भी प्रदेश सरकार से मदद की गुहार लगाई है।

जोशीमठ में लैंडस्लाइड की खबरों के बीच कर्णप्रयाग के कुछ घरों में दरारें दिखाई दी हैं। उत्तराखंड के चमोली जिले में कर्णप्रयाग नगर पालिका के बहुगुणा नगर में जोशीमठ क्षेत्र में भूमि धंसने की आशंका के बीच कुछ घरों में ताजा दरारें देखी गईं।

जोशीमठ से कर्णप्रयाग की दूरी करीब 82 किलोमीटर है। अंदाजा लगाया जा सकता है कि खतरा किस हद तक बढ़ता जा रहा है। हालांकि कर्णप्रयाग में अभी कोई निर्माणाधीन हाइड्रो पावर प्रोजक्ट नहीं है लेकिन यहां रेल लाइन का कार्य तेजी से चल रहा है। कर्णप्रयाग का इलाका भी भूकंपीय खतरे के जोन-5 के अंतर्गत आता है।

पूर्व में विशेषज्ञों की रिपोर्ट के अनुसार, चमोली जिले का जोशीमठ, कर्णप्रयाग नगरपालिका क्षेत्र, पोखरी ब्लॉक के कई इलाके जोन-5 में पहले से हैं। मकानों में दरारों से ऐसे इलाकों में और ज्यादा खतरा बढ़ गया है। कर्णप्रयाग तक पहुंचा जमीन धंसने और मकानों में आई दरारों से पैदा हुए बड़े संकट का खतरा अब उन इलाकों तक पहुंच सकता है जो अभी सुरक्षित हैं।

चमोली जिले में खतरे के जोन-5 में आने वाले इलाकों को अलर्ट रहने की जरूरत है। हालांकि अभी विशेषज्ञों की टीम जोशीमठ में ढेरा डाले हुए है। विशेषज्ञों की टीम की विस्तृत रिपोर्ट आने के बाद ही जोशीमठ में हो रहे भू धंसाव और आगे के खतरे का सही आंकलन किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here