कांग्रेसियों का धरना खत्म, हरीश रावत ने दी चेतावनी

harish rawat dharana

आखिरकार बहादराबाद थाने के बाहर कांग्रेसियों चल रहा धरना खत्म हो गया है। जिलाधिकारी विनय शंकर पांडे और एसएसपी योगेंद्र सिंह रावत के आश्वासन के बाद कांग्रेसियों ने अपना अनशन तोड़कर धरना समाप्त किया। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रशासन से 10 नवंबर तक किए गए सभी मुकदमें हटाने की चेतावनी दी है। रावत ने कहा कि यदि इसके बाद भी मुकदमे को लेकर कोई कार्रवाई नहीं हुई तो फिर से धरना दिया जाएगा।

बता दें कि हरिद्वार पंचायत चुनाव के दौरान बहादराबाद मतगणना केंद्र पर पंचायत चुनाव की मतगणना के बीच पुलिस पर पत्थरबाजी की गई थी। जिसको लेकर कई कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं पर मुकदमे दर्ज कराए गए थे। इस मामले को लेकर कांग्रेस लगातार विरोध कर रही है। मामले को लेकर कांग्रेस विधायक अनुपमा रावत ने कहा कि बीजेपी सरकार के दबाव में आकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर मुकदमे दर्ज कर फंसाया जा रहा है।

गौरतलब है कि विधायक अनुपमा रावत के समर्थन में बीते 21 अक्टूबर को कांग्रेस कार्यकर्ता पशुओं को साथ लेकर बहादराबाद थाने पहुंच थे। जिन्हें उन्होंने थाने में ही बांध दिया था। जिसको लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पुलिस कर्मचारियों के बीच काफी नोंकझोंक भी हुई थी।

इस पूरे मामले को लेकर कांग्रेस के अन्य विधायक, नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने पूर्व मुख्यमंत्री के धरने को अपना पूरा समर्थन दिया। हरीश रावत और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रात भर बहादराबाद थाने में धरना दिया। लेकिन अब प्रशासन की ओर से आश्वासन मिलने के बाद चेतावनी देकर धरने को समाप्त कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here