गोदियाल-प्रीतम का बड़ा आरोप : अपनी कुर्सी बचाने के लिए CM ने उत्तराखंड के हितों को बेचा, श्वेत पत्र जारी करें

देहरादून : बीते दिन अपने दो दिवसीय लखनऊ दौरे के दौरान उत्तराखंड के सीएम धामी की यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ बैठक हुई वो भी परिसंपत्ति के बंटवारे को लेकर। इस बीच पिछले 21 सालों से चले आ रहे परिसंपत्ति विवाद का हल होने का दावा किया है। चुनावी साल में इसे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की बड़ी कामयाबी के तौर पर देखा जा रहा है। केंद्र, यूपी और उत्तराखंड में भाजपा की सरकारें होने के बावजूद परिसंपत्तियों के विवाद न सुलझ पाने को लेकर सवाल उठते रहे हैं। कांग्रेस सरकार पर हमला वर हो गई है। पूर्व सीएम हरीश रावत समेत नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह और प्रदेश अध्यक्ष ने सीएम समेत सरकार पर राज्य को बेचने का बड़ा आऱोप लगाया है।

केंद्र के इशारे पर यूपी को अपर हैंड देने के लिए सीएम धामी ने सरेंडर किया-गोदियाल

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल का बड़ा आरोप है कि उत्तराखंड के हितों के साथ कुर्सी की कीमत पर समझौता किया गया है। गणेश गोदियाल ने कहा कि केंद्र के इशारे पर यूपी को अपर हैंड देने के लिए सीएम धामी ने सरेंडर किया। गणेश गोदियाल ने वाल करते हुए कि केंद्र के आदेश पर सीएम धामी लखनऊ गए और सीएम धामी अपनी कुर्सी बचाने के लिए उत्तराखंड के हितों को बेच आए। गणेश गोदियाल ने कहा कि कांग्रेस समझौता वाले दिन को काले दिन के तौर पर मनाएगी। गणेश गोदियाल ने आगे सरकार पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस समझौता लागू नहीं होने देगी।

सरकार ने उत्तराखंड के जल जमीन को गिरवी रख दिया-प्रीतम सिंह

वहीं नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने अटल जी ने उत्तराखंड को बनाया औऱ मोदी जी संवारेंगे’ के नारे के बहाने उत्तराखंड सरकार पर निशाना साधा। प्रीतम सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने राज्य के हितों को सुरक्षित रखा लेकिन धामी सरकार ने उत्तराखंड के जल जमीन को गिरवी रख दिया। प्रीतम सिंह ने कहा कि कांग्रेस सड़कों पर उतरकर सरकार के खिलाफ विरोध दर्ज कराएगी। कांग्रेस समझौते के खिलाफ अदालत जाएगी. नेता प्रतिपक्ष ने सरकार से श्वेत पत्र जारी करने की मांग की। प्रीतम सिंह ने लखनऊ में अरबों रुपये की संपत्ति पर धामी सरकार की चुप्पी पर भी निशाना साधा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here