कांग्रेस विधायक के कमरे में आग से भारी नुक़सान, इसको ठहराया जिम्मेदार

देहरादून : विधायक होस्टल देहरादून में रानीखेत से कांग्रेस के विधायक करन माहरा के आवास पर आग लगने से हॉस्टल महत्वपूर्ण दस्तावेज समेत अन्य कीमती सामान जलकर राख हो गया। ग़नीमत रही कि जब आग लगी उस वक़्त आवास में कोई भी मौजूद नहीं था।

दरअसल जब विधायक 2 दिन बाद वापस लौटे तो घर का दरवाज़ा खोला तो अंदर सामान जलकर राख था। घटना 9 और 10 मार्च के बीच की बताई जा रही घटना। सवाल ये उठता है कि विधायक होस्टल में जहां तमाम सुविधाएं हैं जहां प्रदेश के विधायक रहते हैं. वहीं इस तरह की घटनाएं सुरक्षा व्यवस्था पर बड़ा प्रश्नचिन्ह लगा रही हैं। क्योंकि पांच महीने पहले इसी विधायक आवास में मनोज रावत के घर में भी आग लगी थी।

विधायक करन माहरा का कहना है कि विधायक होस्टल सुरक्षित नही है, कौन आता है कौन जाता है कुछ पता नही चलता है। विधायक ने बताया कि पीडब्ल्यूडी विभाग विधायक आवास की मेंटेनेंस देखता है…कहा कि कमरे में फ़ायर अलार्म लगाए गए हैं लेकिन कैसे भीषण आग लगने के बाद भी आलर्म नहीं बजा. विधायक ने कहा कि ये फायर अलार्म लगाने वालों की और यहां काम करते हैं उनकी जिम्मेदारी है. आग लगने के बाद भीषण धुआं उठा होगा लेकिन किसी का ध्यान कैसे इस ओर नहीं गया ये सोचने वाली बात है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here