हल्द्वानी- धरने पर बैठे कांग्रेस नेता-पार्षद, कोतवाल की वापसी और भाजपाईयों पर कार्यवाही की मांग

हल्द्वानी- मंगलवार को बनभूलपुरा के कई कांग्रेसी नेता और पार्षद हल्द्वानी कोतवाली पहुंचे। सभी कांग्रेसी नेता, पार्षद और कार्यकर्ता भाजपा के खिलाफ कोतवाली में धरने पर बैठ गए और भाजपाइयों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वहीं कांग्रेस नेताओं और पार्षदों ने कोतवाल की वापसी और भाजपाईयों पर कार्यवाही की मांग की। इस दौरान मौके पर एसपी सिटी और सीओ पहुंचे और पार्षदों को समझाने की कोशिश की लेकिन कांग्रेसियों ने हल्ला बोल किया और मेयर तुम शर्म करो-भाजपा मुर्दाबाद के नारे लगाए औऱ रैली निकाली।

भाजपा ने पुलिस पर जबरन दबाव बनाकर पार्षद को छुड़ाने का काम किया-कांग्रेस

कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा ने पुलिस पर जबरन दबाव बनाकर पार्षद को छुड़ाने का काम किया है। कांग्रेसी पार्षदों ने पुलिस पर भाजपा द्वारा दबाव बनाकर गुंडागिरी करने वाले पार्षद को छुड़ाने और सत्ता की हनक दिखाकर गुंडों को संरक्षण देने का काम किया है। पार्षदों ने पुलिस अधिकारियों से तत्काल अटैच किए गए कोतवाल को बहाल करने की मांग की साथ ही शहर में शांति व्यवस्था कायम करने के लिए किए जा रहे पुलिस के प्रयासों की सराहना की और कोतवाल को बहाल करने की मांग की।

कांग्रेसियों ने लगाए पुलिस प्रशासन जिंदाबाद के नारे

इस दौरान कांग्रेसियों ने पुलिस प्रशासन जिंदाबाद के नारे लगाए। कांग्रेस का आरोप है कि मेयर ने धरना प्रदर्शन कर लोकतंत्र की हत्या की है। कांग्रेस ने पार्षद तन्मय रावत पर आए दिन गुंडागर्दी करने का आरोप लगाया औऱ कहा कि आए दिन पार्षद गुंडागर्दी करता रहता है। कांग्रेस का कहना है कि कोतवाल की वापसी हो वरना उनका आंदोलन जारी रहेगा। पार्षद पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का काम किया है। कांग्रेसियों का कहना है कि जब तक कोतवाल की वापसी नहीं होती वो आंदोलन करते रहेंगे।

ये है मामला

आपको बता दें कि बीते दिन हल्द्वानी में भाजपा पार्षद तन्मय रावत की गिरफ्तारी के बाद कोतवाली में जमकर हंगामा जारी है। गिरफ्तारी का विरोध करने पहुंचे हल्द्वानी के मेयर जोगेंद्र रौतेला और दर्जा राज्यमंत्री तरुण बंसल सहित भारी संख्या में भाजपा नेताओं ने पुलिस के खिलाफ जोरदार विरोध प्रदर्शन किया था। इस दौरान पुलिस से भाजपा नेताओं की तीखी नोकझोंक भी हुई थी। बता दें कि भाजपा पार्षद तन्मय रावत द्वारा कुछ दिन पहले रोडवेज के पास एक रेस्टोरेंट में तोड़फोड़ और मारपीट की शिकायत के बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया था।

कोतवाली में प्रदर्शन कर रहे भाजपा नेताओं का कहना है कि पुलिस ने जान बूझकर बदले की की भावना से यह कार्यवाही की है और जब तक कोतवाल संजय कुमार का तबादला नहीं होता तब तक वह अनिश्चितकालीन धरने पर कोतवाली में ही बैठे रहेंगे। धरने पर बैठे मेयर जोगेंद्र रौतेला ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं की लगातार उपेक्षा हो रही है, पुलिस किसी भी मामले में भाजपा जनप्रतिनिधियों की नहीं सुनती लिहाजा ऐसे अधिकारियों के खिलाफ जब तक कार्यवाही नहीं होगी तब तक वह धरने पर बैठे रहेंगे। वहीं देर रात कोतवाल को पुलिस लाइन अटैच किया गया था और पार्षद तन्मय रावत को जमानत पर छोड़ा गया था जिसको लेकर कांग्रेस में रोष है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here