मुख्यमंत्री की अपील के बाद ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी ने 400 कमरों का आश्रम कोविड हॉस्पिटल के लिए देने की घोषणा

हरिद्वार : उत्तराखंड में कोरोना की बेकाबू रफ्तार को देखते हुए राज्य सरकार ने निजी क्षेत्र के लोगो से भी सहयोग लेना शुरू कर दिया है पतंजलि के सहयोग के बाद आज एक और बड़े संत से अपने आश्रम को कोविड हॉस्पिटल बनाने के लिए सहमति दे दी है। हरिद्वार के बड़े आश्रमो की श्रृंखला वाले जयराम आश्रम के प्रमुख ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी ने भी हरिद्वार का अपना 400 कमरों का एक आश्रम कोविड हॉस्पिटल के लिए देने की घोषणा कर दी है। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत आज खुद ब्रह्स्वरूप के जयराम आश्रम पंहुचे थे और उनसे कोरोना में सहयोग की अपील की थी। जल्द ही इस आश्रम को ऋषिकेश ऐम्स द्वारा संचालित किया जा सकता है।

कोविड के मरीजों के इलाज में संसाधनों की कमी को दूर करने के लिए उत्तराखंड सरकार निजी संस्थाओं की मदद ले रही है।बीते दिन ही हरिद्वार में कुम्भ मेले के लिए बने बेस हॉस्पिटल को पतंजलि की मदद से कोरोना क्रिटिकल केयर सेंटर के रूप में शुरू किया गया। वहीं आज ही मुख्यमंत्री की अपील पर हरिद्वार के ही एक बड़ी धार्मिक संस्था ने भी अपना एक आश्रम कोरोना केयर सेंटर के लिए देने की घोषणा की है। हरिद्वार के जाने माने संत ब्रह्स्वरूप ब्रह्मचारी ने मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से मुलाकात में उत्तरी हरिद्वार में 400 कमरों वाले गंगास्वरूप आश्रम को कोविड केयर सेंटर के लिए देने पर सहमति जताई। उन्होंने कहा कि इस भारी विपदाकाल में मानवता की सेवा करना हम सब का धर्म है और इसे देखते हुए हमने 400 कमरों के आश्रम को कोविड केयर के लिए देने का फैसला किया है। उन्होंने हरिद्वार के अन्य संतो व धार्मिक संस्थाओं से भी अपील करी की सभी आगे आकर कोरोना संकट को दूर करने में सहयोग करें।

उत्तरी हरिद्वार में स्थित गंगा स्वरूप आश्रम को कोविड केयर सेंटर के रूप में तब्दील करने के लिए जयराम आश्रम आर्थिक सहयोग भी मुहैया कराएगा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के अनुसार गंगास्वरूप आश्रम को कोविड सेंटर के रूप में संचालित करने के लिए ऋषिकेश ऐम्स से बातचीत हुई है जल्द ही ऐम्स यंहा इस आश्रम को कोविड केयर सेंटर के रूप में संचालित करना शुरू कर देगा मदन कौशिक का कहना है कि कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा कई हॉस्पिटल तैयार किए जा रहे हैं और हमारे द्वारा भी अखाड़ों के साधु संतों से वार्ता की जा रही है। सभी अखाड़े मिलकर एक बड़ा कोविड सेंटर को संभाल ले तो काफी दिक्कतें खत्म हो सकती है। इसको लेकर हमारे द्वारा बातचीत भी की जा रही है.

धर्म नगरी हरिद्वार में बड़े पैमाने पर कोरोना का प्रकोप बढ़ रहा है। इसी को देखते हुए हरिद्वार पहुंचे मुख्यमंत्री द्वारा साधु संतों से अपील की गई की कोरोना महामारी को देखते हुए आगे आए और लोगों के लिए कार्य करें मुख्यमंत्री खुद जयराम आश्रम पहुंचे और ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी से मुलाकात की और उनके द्वारा जयराम आश्रम के एक आश्रम को कोविड सेंटर बनाने की अपील की गई और इस अपील के तुरंत ही ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी द्वारा अपने आश्रम को कोविड सेंटर के लिए देने की घोषणा की गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here