सीएम का केद्रीय मंत्री से अनुरोध, राज्य के पहाड़ों में भी हों उद्योग विकसित

सितारगंज-
टूल केन्द्र  (टीसीएमपी) का निर्माण किया जाना क्षेत्र के लिये एक बड़ी उपलब्धि है। यह टूल केन्द्र 20 एकड क्षेत्र में विकसित होगा। सितारगंज का सिडकुल क्षेत्र आटोमोबाइल हब के रूप में विकसित हो रहा है। उन्होंने कहा कि इस टूल सेंटर के निर्माण से उद्योगों को मांग के अनुसार मेन पावर व प्रशिक्षित श्रमिकों,इंजीनियरों की कमी आसानी से पूरी की जा  सकेगी। ये बात राज्य के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने उस वक्त कही जब वे सितारगंज के सिडकुल में टीसीएमपी केंद्र के शिलान्यास मौके पर मौजूद जनसमूह को केंद्रीय मंत्री के साथ संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर सीएम ने कहा कि कौशल विकास के क्षेत्र में राज्य ने तरक्की है और इस लिहाज से प्रदेश में हस्तशिल्प व दस्तकारी से ताल्लुक रखने वाली औद्योगिक इकाईयों का विस्तार किया जाना भी जरूरी है । इस मौके पर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने केन्द्रीय मंत्री से प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्र के लिये विशेष औद्योगिक आस्थानों के निर्माण विकसित किये जाने की बात कही ताकि स्थानीय युवकों को रोजगार उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्किल डवलपमेंट का रोडमैप तैयार कर रहा है और पर्वतीय क्षेत्रों में औद्यौगिक शिल्प को मजबूती प्रदान के लिये 100 करोड की आश्यकता होगी। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में दो टूल रूम केन्द्र और स्थापित करने की बात कही । इस मौके पर सीएम नें केन्द्रीय मंत्री से राज्य में उद्योगों के विस्तार पर केन्द्र से हर सम्भव सहयोग देने का अनुरोध भी किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here