सीएम ने किया पुरुस्कार वितरण समारोह में प्रतिभाग, कि लाखों की राशि वितरित

भराड़ीसैंण- मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को विधानसभा भराड़ीसैंण(गैरसैंण) में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अन्तर्गत इलैक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटैलीजेंस नेटवर्क (ई.वी.आई.एन.), मीजिल्स रूबैला टीकाकरण, आर.एन.टी.सी.पी. और कायाकल्प पुरस्कार वितरण समारोह 2017-18 में प्रतिभाग किया।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि मीजल्स एवं रूबेला के टीकाकरण में स्वास्थ्य विभाग के साथ शिक्षा एवं आईसीडीएस विभागों की महत्वपूर्ण भूमिका रही। प्रदेश में 28 लाख बच्चों के मीजल्स एवं रूबेला टीकाकरण के निर्धारित लक्ष्य को सम्बन्धित विभागों द्वारा समय से पूरा किया गया। उन्होंने कहा कि प्रदेश को 2024 तक क्षय रोग से मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया है।

उन्होंने प्रदेश के सभी 13 जिलों के क्षय रोग निदान हेतु कार्य करने वालों को टेबलेट वितरण किया। उन्होंने कहा कि किसी भी लक्ष्य को प्रदान करने के लिए विभागों में आपसी समन्वय होना जरूरी है। विभागों के समन्वय के कारण ही मीजल्स एवं रूबेला के टीकाकरण में प्रदेश में निर्धारित लक्ष्य से अधिक टीकाकरण हुआ। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने क्षय रोग मुक्ति के लिए शपथ भी दिलाई।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने इलैक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटैलीजेंस नेटवर्क(ई.वी.आई.एन.) को भी मोबाईल एप से लॉच किया। ई.वी.आई.एन. का उद्देश्य राज्य में सभी कोल्ड चेन प्वांइंट्स पर वैक्सीन के भण्डारण और प्रभाव तथा भंडारण के तापमान के बारे में तात्कालिक सूचना देकर भारत सरकार के नियमित टीकारण के कार्यक्रम को सहयोग देना है।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने उत्कृष्ट कार्य करने वाले प्रदेश के जिला चिकित्सालयों, उप जिला चिकित्सालयों एवं प्रत्येक जिले में श्रेष्ठ कार्य करने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को पुरस्कृत किया एवं प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किये।  जिसमें कायाकल्प पुरस्कार के तहत श्रेणी ’ए’ में प्रथम पुरस्कार प्राप्त करने वाले जवाहर लाल नेहरू, जिला चिकित्सालय ऊधमसिंह नगर को 50 लाख रूपये की धनराशि प्रदान की गई।

जबकि 06 जिला चिकित्सालयों चेनराय जिला महिला चिकित्सालय हरिद्वार, बी.डी.पाण्डेय जिला पुरूष चिकित्सालय नैनीताल, जिला चिकित्सालय गोपेश्वर, चमोली, बी.डी.पाण्डेय जिला महिला चिकित्सालय नैनीताल, जिला चिकित्सालय रूद्रप्रयाग एवं जिला महिला चिकित्सालय उत्तरकाशी को सांत्वना पुरस्कार के रूप में 03-03 लाख रूपये की धनराशि प्रदान की गई।

श्रेणी ’बी’ में प्रथम पुरस्कार प्राप्त करने वाले उप जिला चिकित्सालय नरेन्द्रनगर, टिहरी गढ़वाल को 15 लाख रूपये, द्वितीय पुरस्कार प्राप्त करने वाले उप जिला चिकित्सालय कोरोनेशन, देहरादून को 10 लाख रूपये एवं सांत्वना पुरस्कार प्राप्त करने वाले संयुक्त चिकित्सालय प्रेमनगर, देहरादून एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र डोईवाला, देहरादून को 01-01 लाख रूपये की धनराशि प्रदान की गई।

श्रेणी ’सी’ के अन्तर्गत जनपद में प्रथम पुरस्कार प्राप्त करने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को 02-02 लाख रूपये एवं सांत्वना पुरस्कार प्राप्त करने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को 50-50 हजार रूपये की धनराशि प्रदान की गई।

इस अवसर पर मीजल्स एवं रूबेला टीकाकरण में बेहतर समन्वय के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास राधा रतूड़ी, सचिव शिक्षा भूपेन्द्र कौर औलख, सचिव स्वास्थ्य नितेश झा, स्टेट इम्यूनाइजेशन ऑफिसर भारती राणा आदि को स्मृति चिन्ह प्रदान किया।

इस अवसर पर कृषि मंत्री सुबोध उनियाल, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, अपर सचिव ऊषा शुक्ला, मिशन निदेशक एनएचएम युगल किशोर पंत, जिलाधिकारी चमोली आशीष जोशी एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here