जोशीमठ को लेकर दिए जा रहे बयानों से सीएम धामी नाखुश, बोले, गलत संदेश जा रहा है

CM DHAMI IN MEETINGजोशीमठ भू-धंसाव के प्रभावितों के लिए फैब्रीकेटेड घरों को बनाने की तैयारी हो गई है। ये घर एम्मार कंपनी बनाएगी। जोशीमठ में ऐसे 100-150 तक घर बनाए जाएंगे।

एम्मार कंपनी के सीईओ कल्याण चक्रवर्ती ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मंगलवार को सचिवालय में भेंट की और इस संबंध में विस्तृत चर्चा की है।

इस दौरान मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि जोशीमठ क्षेत्र के प्रभावितों को हर संभव मदद करना राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता है। प्रभावितों को किसी भी प्रकार की कठिनाई न हो, उनकी समस्याओं का प्राथमिकता के साथ त्वरित निराकरण हो, इसके निर्देश सभी संबंधित अधिकारियों को दिए गए हैं।

जोशीमठ क्षेत्र के भूगर्भीय जांच आदि में केंद्र एवं राज्य सरकार के सभी संस्थान जुटे हैं। शीघ्र ही इस संबंध में ठोस कार्ययोजना पर कार्य किया जाएगा। प्रभावितों के पुनर्वास आदि के स्थायी समाधान के भी प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इशारों में कांग्रेस को आड़े हाथों लिया है। सीएम धामी ने कहा है कि यह समय जोशीमठ पर राजनीति करने का नहीं, बल्कि पीड़ितों की मदद का है। सभी को जोशीमठ को बचाने के लिए एक साथ आना चाहिए।

आपको बता दें कि कांग्रेस ने जोशीमठ में हो रहे राहत कार्यों को नाकाफी मानते हुए अपना विरोध दर्ज कराया है। कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल ने सीएम धामी से मुलाकात भी की थी।

वहीं सीएम धामी की नाराजगी इस बात से भी जाहिर हो रही है कि कई नेताओं के बयानों से ऐसा संदेश जा रहा है कि मानों पूरा जोशीमठ ही खतरे में आ गया है। सीएम ने साफ किया है कि जोशीमठ का 70 फीसदी हिस्सा सुरक्षित और लोग अपनी रोजाना की दिनचर्या में जीवन जी रहें हैं। ऐसे में जोशीमठ को लेकर दिए जा रहे बयानों से राज्य में चार धाम यात्रा पर भी प्रभाव पड़ने की आशंका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here