सीएम धामी का संदेश साफ, हो कोई भी, हिसाब सबका होगा

DHAMI STRICT ON UKSSSC PAPER LEAKउत्तराखंड में भर्ती परीक्षाओं के दीमक को जड़ से हटाने में लगे सीएम पुष्कर सिंह धामी ने राज्य में भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़ी कार्रवाई के संकेत पहले ही दे दिए थे। उत्तराखंड अधिनस्थ सेवा चयन आयोग के पूर्व चेयरमैन आरबीएस रावत की गिरफ्तारी के बाद ये भी साफ हो गया है कि आरोपी कितना भी रसूखदार क्यों न हो। उसका हिसाब किताब जरूर होगा।

यूकेएससीसी द्वारा 2016 में कराई गई वीपीडीओ भर्ती परीक्षा में धांधली की जाँच में आज आरबीएस रावत पूर्व चेयरमैन,सचिव मनोहर कन्याल,पूर्व परीक्षा नियंत्रक आरएस पोखरिया को गिरफ़्तार कर लिया गया है

यह भर्ती परीक्षा प्रकरण में अब तक की सबसे बड़ी कार्यवाही है । 2016 के मामले में लंबे समय से जाँच चल रही थी लेकिन मुख्यमन्त्री के कड़े रुख़ के बाद  जाँच एजेंसियों ने भी तेज़ी दिखाई। मुख्यमंत्री धामी पिछले कई अवसरों पर बार बार कह रहे हैं कि वो अपने युवा भाई बहनों के साथ अन्याय नहीं होने देंगे, सरकारी नौकरियों की भर्ती में भ्रष्टाचार का जो दीमक लगा है उसे वे जड़ से मिटा देंगे।

इस क्रम में वीपीडीओ भर्ती में 6 वर्ष बाद विधिसम्मत कार्यवाही कर सीएम ने एक बड़ी लकीर खींच दी है। मुख्यमंत्री धामी ने एसटीएफ की कार्रवाई की सराहना करते हुए कहा कि ‘जाँच एजेंसिया अपना काम कर रही हैं। उत्तराखंड के युवा का हक़ मारने वाले किसी भी दोषी को छोड़ा नहीं जाएगा। सरकार ये सुनिश्चित कर रही है कि भविष्य की सभी भर्ती परीक्षाएँ स्वच्छ और पारदर्शी हो। आज की कार्रवाई इस बात की मिसाल है कि भविष्य में कोई इन परीक्षाओं में गड़बड़ी करने की हिम्मत न कर सके’।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here