CM सीएम त्रिवेंद्र रावत बोले : जब तक दवाई नहीं तब तक कोई ढिलाई नहीं

देहरादून : उत्तराखंड में कोराना के मामलों जहां पिछले महीने तेजी से बढ़े, तो कोराना से मौत के मामलों में भी उत्तराखंड में वृद्धि हुई। वहीं उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना है कोराना से हुई मौतों के मामले में एक विश्लेषण किया गया है जिसमे पाया गया है,कि कोराना से अधिक मौतें 50 साल से अधिक आयु पार कर चुके लोगों की हुई है,साथ ही कोराना से उन लोगों की मौत 50 वर्ष से अधिक आयु पारकर चुके लोगों की हुई है,जिनहोने अपना टेस्ट समय पर नहीं करावाया और उनमें मधुमेह,कैंसर या रक्ताचाप आदि बिमारियों से संकमित थे.

मुख्यमंत्री का कहना है कि कुछ कोराना पाॅजिटिव डाॅक्टरों से बिना सलाह के उपचार कर रहे हैं जो बाद में कभी बिमारी भंयकर रूप ले रही है और फिर चिक्तिसा प्रभावहीन हो रही है। सीएम ने कहा कि ऐसे में वह अपील करते है कि कोविड के लक्षण महसूस होने पर कोराना की जांच कराएं और परिजनों की भी जांच कराएं। मुख्यमंत्री का कहना है कि जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं,हर जान मुल्यवान है इसलिए कोई लापरवाही कोराना वायरस महामारी के दौर में न करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here