राम मंदिर फैसले को सीएम ने बताया एतिहासिक, कहा- सौहार्द और प्रेम की मिसाल है

देहरादून : अयोध्या में राम मंदिर बनाने को लेकर मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार केंद्रीय कैबिनेट ने बुधवार को राम मंदिर ट्रस्ट बनाने को मंजूरी दे दी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में राम मंदिर ट्रस्ट बनाने का ऐलान किया. इस ट्रस्ट का नाम ‘श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ रखा गया है. लोकसभा में पीएम ने इसके साथ ही अयोध्या में सरकार द्वारा कब्जाई गई 67 एकड़ जमीन को भी ट्रस्ट को देने की बात की.

फैसले को बताया एतिहासिक, सौहार्द और प्रेम की मिसाल

वहीं इस फैसले के बाद सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने खुशी जाहिर करते हुए एक के बाद एक ट्वीट किए हैं और पीएम नरेंद्र मोदी समेत यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को नमन किया इसे एतिहासिक कदम बताया है। सीएम त्रिवेंद्र रावत ने ट्वीट कर इस फैसले को सौहार्द और प्रेम की मिसाल बताया। सीएम त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि पीएम मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यानाथ के इस एतिहासिक कदम से जल्द भव्य श्रीराम मंदिर का निर्माण का सपना पूरा होगा।

सीएम के एक के बाद एक ट्वीट

सीएम ने ट्वीट करते हुए लिखा कि भव्य राम मंदिर को लेकर कोर्ट के फैसले के बाद से समाज में परस्पर सौहार्द और प्रेम की मिसाल देखने को मिली। यह भारतवर्ष की सहिष्णुता का अनुपम उदाहरण है। इसके लिए समस्त देशवासी एवं योगी आदित्यनाथ जी की उत्तरप्रदेश सरकार भी अभिनंदन के पात्र हैं।

आगे सीएम ने ट्वीट कर लिखा कि मैं इस एतिहासिक क़दम के लिए पीएम श्री नरेंद्र मोदी जी व केंद्र सरकार का कोटि कोटि नमन करता हूँ। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की घोषणा के बाद करोड़ों देशवासियों की भावनाओं के अनुरूप अयोध्या जी में एक भव्य श्रीराम मंदिर का निर्माण का सपना शीघ्र पूर्ण होगा।

सीएम ने ट्वीट कर कहा कि समस्त भारत के जनमानस की श्रद्धा और आस्था के प्रतीक श्रीरामजन्मभूमि पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश अनुसार सरकार ने प्रभु श्री राम के भव्य मंदिर निर्माण हेतु अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र नाम से ट्रस्ट बनाने का निर्णय ले कर करोड़ों देशवासियों के सपने को पूर्ण किया है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here