तवांग की झड़प के बाद चीन ने बॉर्डर पर तैनात किए फाइटर जेट

INDIA CHINA BORDER DRONE IMAGE BY MAXR
PHOTO – maxar/ndtv

तवांग में झड़प के बाद चीन ने नॉर्थ-ईस्ट बॉर्डर के पास अपनी एक्टिविटी बढ़ा दी है। नॉर्थ-ईस्ट बॉर्डर से सटे एयरबेस पर चीन ने अपने लड़ाकू विमानों और ड्रोन की संख्या में इजाफा कर दिया है। सैटेलाइट इमेज से चीन की हरकतों का पता चला है। इसके मुताबिक चीन ने अपने तीन एयरबेस को एक्टिवेट कर दिया है।

चीन की इस हरकत की सैटेलाइट तस्वीरें भी सामने आई है। सैटेलाइट तस्वीरों में LAC के पास चीन की गतिविधियां साफ दिखाई पड़ रही हैं। चीन ने बांगदा एयरबेस पर सोरिंग ड्रैगन ड्रोन तैनात किया है। बांगदा एयरबेस अरुणाचल सीमा से महज 150 किमी. दूर है। तिब्बत के शिगात्से पीस एयरपोर्ट पर भी चीन के 10 एयरक्राफ्ट और 7 ड्रोन तैनात किए हैं। उधर ल्हासा गोंगर एयरपोर्ट पर भी चीन अपनी सैन्य ताकत बढ़ा रहा है। ल्हासा से शीगत्से करीब 220 किमी दूर है. तिब्बत का यह पांचवां एयरपोर्ट है।

3 एयरबेस को पूरी तरह एक्टिवेट किया

सैटेलाइट तस्वीरों से यह साफ है कि चीन ने अपने 3 एयरबेस को पूरी तरह एक्टिवेट कर दिया है। LAC पर चीन की गतिविधियां उस वक्त बढ़ी हैं जब भारतीय वायुसेना ने अरुणाचल में बड़ा युद्धाभ्यास किया। इसके बाद चीन बौखलाहट में बॉर्डर एरिया पर फाइटर जेट और ड्रोन तैनात कर भारत पर दबाव बनाने की कोशिश में जुटा है।

तवांग में हुई थी झड़प

बता दें कि 9 दिंसबर को तवांग में चीनी सैनिक सेना के एक पोस्ट पर कब्जा करने की नीयत से भारतीय सीमा में दाखिल हुए थे। लेकिन भारतीय सैनिकों की जांबाजी के आगे वे टिक नहीं पाए और उल्टे पांव उन्हें भागना पड़ा। दोनों सेनाओं के बीच हुई हाथापाई में दोनों तरफ के कुछ सैनिक घायल हुए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here