चैंपियन बोले- कोई साबित कर दे मैनें जुलूस निकाला तो इस्तीफा दे दूंगा, तो देखिए और दीजिए इस्तीफा!

 

देहरादून : कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन का सोशल मीडिया में वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वो बड़े काफिले के साथ गाड़ी से ही लोगों का अभिवादन करते नजर आ रहे हैं। उनके पीछे गाड़ियों को बहुत लंबा काफिला भी नजर आ रहा है, लेकिन भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष इसे पूरी तरह गलत करार दे रहे हैं। उनका कहना है कि ये सब बातें झूठी हैं। कोरोना काल में जहां लोग सोशल डिस्टेंसिंग के साथ काम कर रहे हैं। वहीं, भाजपा में वापसी के बाद कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन ने का भाजपा के नेता गुनगान कर रहे हैं। चैंपियन के काफिल के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने वीडिया को ही गलत ठहरा दिया। उन्होंने कहा कि एसडीएम से इसके बारे में पूछा गया तो एसडीएम मे जुलूस निकलने साफ इंकार किया है। और वहीं इसके बारे में विधायक से पूछा गया तो विधायक ने भी कहा कि अगर कोई साबित करदे कि उन्होंने जुलूस निकाला तो वो इस्तीफा दे देंगे। वीडियो में उनके गले में फूलों की माला है और पीछे लंबा काफिला है। विधायक गाड़ी से बाहर आकर शायद जनता को दिखा रहे हैं कि वो भाजपा के हैं और फिर वापस आ गए हैं। बंशीधर भगत ने कहा कि विधायक को कल कार्यालय बुलाया है। उनसे इस संबंध में बात करेंगे।

बता दें कि एक बार फिर से पार्टी में आने के बाद विधायक चैंपियन विवादों में आ गए हैं। जो वीडियो वायरल हो रहा है उसमे उनकी गाड़ी की खिड़की से कोई रायफल लहरा रहा है जिससे साफ है कि विधायक का रौब वैसा का वैसा है। तीन दिन पहले उन्होंने पार्टी से जनता से माफी मांगी लेकिन फिरसे गलती करते जा रहे हैं। खबर है कि प्रदेश अध्यक्ष ने उनको तलब कर दिया है । विधायक को बुलाया गया है।

वहीं, दूसरी ओर इस पूरे मामले में विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल का कहना है कि चैंपियन की वापसी पार्टी में हुई और यह पार्टी का मामला है, लेकिन जिस तहर से उनका काफिला निकला है। उसे उन्हें कोराना महामारी के दौर में नहीं निकालना चाहिए था। साथ ही कहा किये उत्तराखंड की संस्कृति से मेल भी नहीं खाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here