राज्यसभा में उठा चमोली आपदा का मामला, गृह मंत्री अमित शाह ने कही ये बात

चमोली त्रासदी में मरने वालों की संख्या 31 हो चुकी है. सबसे ज्यादा रैणी गांव प्रभावित हुआ है जहां से चिपको आंदोलन की शुरुआत हुई थी। गौरा देवी रैणी गांव की ही थी। बता दें कि मंगलवार को शवों के मिलने का सिलसिला जारी है। आज पांच और शव बरामद किए गए हैं. वहीं तपोवन टनल में घुसने की कवायद जारी है।टनल को साफ किया जा रहा है। कीचड़ से भरे टनल को खाली किया जा रहा है। अभी अंदर पहुंचने में सफलता नहीं मिली है ये बात सीएम ने भी मीडिया को बताई है.

वहीं बता दें कि चमोली आपदा का मामला राज्यसभा में भी उठा। गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में बताया कि टनल में अभी 35 लोगों फंसे हुए हैं उन्हें निकालने की कोशिश जारी है. डीजीपी अशोक कुमार ने जानकारी दी कि सुरंग से मलबा कब तक हटाया जा सकता है, इसके बारे में भी कुछ भी सटीक नहीं बताया जा सकता है. हमने इंजीनियरों को टनल में जाने के लिए वैकल्पिक रास्ता बनाने को भी कहा है. हम आज इसका प्रयास करेंगे. टनल 2.5 किलोमीटर लंबी है, इसलिए ये मत सोचें कि उसमें पानी और ऑक्सीजन जल्द खत्म हो जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here