केंद्र सरकार ने माना, रेलवे की हालत अच्छी नहीं, सीनियर सिटीजन को नहीं देंगे छूट

railway ashwini vaishnav रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि रेल टिकट पर सीनियर सिटीजन को फिलहाल छूट देने की कोई योजना नहीं है। वह बुधवार को संसद के शीतकालीन सत्र में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि रेलवे ने पिछले साल यात्री सेवाओं पर 59 हजार करोड़ रुपए की सब्सिडी दी है, जो काफी बड़ी रकम है। उन्होंने आगे कहा कि ये आंकड़ा कई राज्यों के सालाना बजट से भी ज्यादा है। लोगों को यह देखना चाहिए कि रेलवे की हालत फिलहाल अच्छी नहीं है।

रेल मंत्री ने आगे कहा रेलवे को हर साल सैलरी बिल में 97 हजार करोड़ रुपए और पेंशन बिल पर 60 हजार करोड़ रुपए खर्च करने पड़ते हैं। इन सबके अलावा रेलवे 40 हजार करोड़ रुपए सिर्फ फ्यूल खरीदने पर खर्च करता है। पिछले साल हमने 59 हजार करोड़ रुपए पैसेंजर सब्सिडी दी है। नई सुविधाएं लाई जा रही हैं। अगर नए फैसले लेने होंगे तो हम लेंगे, लेकिन फिलहाल तो सभी लोगों को यह देखना चाहिए कि रेलवे की हालत अच्छी नहीं है।’

दरअसल, महाराष्ट्र के निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने संसद में सवाल किया था कि वरिष्ठ नागरिकों को रेल किराए में मिलने वाली छूट फिर कब शुरू होगी। बता दें कि बुजुर्ग नागरिकों को रेल यात्रा के दौरान किराए में मिलने वाली छूट कोविड-19 महामारी के दौरान बंद की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here