CBI ने मिलिट्री इंजीनियर सर्विस के AE और JE को रिश्वत लेते पकड़ा

देहरादून: उत्तराखंड में सीबीआई ने मिलिट्री इंजीनियर सर्विस के असिस्टेंट इंजीनियर और जूनियर इंजीनियर को 20-20 हजार की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया है। दोनों इंजीनियरों पर आरोप है कि उन्होंने भुगतान के बदले ठेकेदार से ये रकम मांगी थी। सीबीआई ने यह कार्रवाई देर रात तक की।

सीबीआई के एसपी पीके पानीग्रही के मुताबिक एमईएस से जुड़े सरकारी ठेकेदार हिमांशु तिवारी निवासी दिल्ली कैंट ने सीबीआई मुख्यालय में शिकायत दर्ज कराई थी। उनका आरोप है कि उन्हें सरकारी आवासों की मरम्मत को दो कांटेक्ट मिले थे। मरम्मत का काम पूरा करने के बाद छह लाख रुपये का भुगतान शेष रह गया था। भुगतान के लिए कई बार वह अफसरों से मिल चुका था। आरोप लगाया कि डीआरडीओ में एमईएस से तैनात एजीई सिविल केके सिंघल और जेई सिविल जहांगीर अहमद भुगतान के बदले 20-20 हजार रुपये की रिश्वत मांग रहे हैं।

सीबीआई की ट्रेप टीमों ने मिलिट्री इंजीनियर सर्विस के असिस्टेंट इंजीनियर केके सिंघल और जूनियर इंजीनियर जहांगीर अहमद को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। सीबीआई मुख्यालय लाकर दोनों आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। सीबीआई की दो अन्य टीमें आरोपियों के इंजीनियरों के आवास की तलाशी में देर तक जुटी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here