कार सवार ने मजदूरों को मारी टक्कर, उत्तराखंड पुलिस के सिपाहियों ने दिखाई इंसानियत

देहरादून : एक बार फिर उत्तराखंड की मित्र पुलिस ने अपने नाम को साकार करने का काम किया. एक बार फिर उत्तराखंड पुलिस कर्मी ने खाकी की मिसाल कायम की और कुछ कर्मचारियों औऱ अधिकारियों द्वारा वर्दी में लगाए गए धब्बों को मिटाने का काम किया. हर पुलिसवाला पत्थर दिल नहीं होता कई वर्दी वाले ऐसे भी हैं जिनका दिल किसी मजबूर को तकलीफ में देखकर दर्द से भर उठता है और फिर आंधी आए चाहे तूफान उस मजलूम की मदद करने से इन्हे कोई नहीं रोक सकता। बेरहम खाकी वालों की भीड़ में कुछ ऐसे भी कर्तव्यनिष्ठ वर्दीवाले भी हैं जो इंसानियत की जीती जागती मिसाल बने हुए हैं.

कार सवार ने मारी मजदूरों को टक्कर, गोद में उठाकर ले गए पुलिसकर्मी

दरअसल बीते दिन 24 मई यानी की शुक्रवार को जनपद चमोली क्षेत्रान्तर्गत बद्रीनाथ मार्ग पर कुहेड के पास एक कार ने ऑल वेदर रोड कार्य में लगे दो मजदूरों को टक्कर मार दी, जिससे वे सड़क से 20 मीटर नीचे गिर गए और घायल हो गए. सूचना पर पहुंचे उत्तराखण्ड पुलिस के जवान कांस्टेबल प्रवीण रावत और जय सिंह तुरंत मौके पर पहुंचे और घायलों की मदद के लिए आगे आए. दोनों कांस्टेबलों को जब दुर्घटना में घायल व्यक्तियों को एंबुलेंस तक पहुंचाने के लिए स्ट्रेचर नहीं मिला तो उन्होंने घायलों को अपनी गोद में उठाकर एंबुलेंस तक पहुंचाया और अस्पताल ले जाकर उनका इलाज करवाया। जिनका उपचार चल रहा है.

मित्र पुलिस के कांस्टेबलों का ये इंसानियत भरा काम सच में काबिले तारीफ है. सिर्फ ड्यूटी को ही ध्यान में रखकर वर्दी धारी ने ये काम नहीं किया बल्कि इंसानियत, फर्ज, जिम्मेदारी के नाते भी कर्मचारियों ने मित्र पुलिस की मिसाल पेश की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here