मोदी कैबिनेट के लिए मंत्रियों को फोन घनघनाने शुरु, पूर्व CM तीरथ रावत की जगह लगभग तय

tirath singh rawat with pm modi

मोदी कैबिनेट का विस्तार इसी हफ्ते हो सकता है. केंद्रीय कैबिनेट में फेरबदल को लेकर लंबे वक्त से कयास लगाए जा रहे हैं, लेकिन इस हफ्ते मोदी कैबिनेट का विस्तार लगभग तय माना जा रहा है. बताया जा रहा है कि कई मंत्रियों के विभाग भी बदल सकते हैं. मोदी कैबिनेट में उत्तराखंड के पूर्व सीएम तीरथ रावत को भी जगह मिल सकती है। तीरथ रावत की कुर्सीलगभग तय मानी जा रही है। खबर है कि मोदी कैबिनेट के लिए सांसदों को फोन आने शुरु हो गए हैं। दो सप्ताह पहले ही सभी मंत्रियों के मंत्रालय के कामकाज की समीक्षा के बाद आने वाले समय में उनके मंत्रालय की प्लानिंग को लेकर रिपोर्ट मांगी गई थी. इससे पहले पीएम मोदी ने 20 जून को  अपने वरिष्ठ मंत्रियों के साथ बैठकर पिछले दो सालो में किए गए काम की समीक्षा की थी. मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार 7 या 8 जुलाई को हो सकता है. संतोषजनक काम न करने वाले मंत्रियों को हटाया जा सकता है.

तीरथ रावत की सीट लगभग तय

वहीं बता दें कि उत्तराखंड के पू्र्व सीएम तीरथ सिंह रावत को भी मोदी कैबिनेट में जगह मिल सकती है। इसे लगभग तय माना जा रहा है। बता दें कि दो दिन पहले ही तीरथ सिंह रावत ने सीएम पद से इस्तीफा दिया है और अब उन्हें केंद्र में बड़ी जिम्मेदारी मिलना तय माना जा रहा है। बता दें कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में 81 सदस्य हो सकते हैं. वर्तमान में 53 मंत्री हैं, यानी 28 मंत्रियों को जोड़ा जा सकता है.

माना जा रहा है कि मोदी सरकार के कई मंत्रियों के विभाग भी बदले जा सकते हैं. मोदी सरकार-2 के गठन को दो साल से अधिक समय बाद होने जा रहे मंत्रिमंडल विस्तार पर पांच राज्यों में चुनाव को देखते हुए वहां के जातिगत और राजनीतिक समीकरण की छाप भी नजर आ सकती है. सूत्रों की मानें तो मोदी मंत्रिमंडल के विस्तार में एनडीए की गठबंधन सहयोगी जनता दल यूनाइटेड और लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के पारस गुट के नेताओं को भी जगह दी जा सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here