खंडहर को कॉलेज दिखाकर कांग्रेस विधायक के भाई ने हड़पे छात्रवृत्ति के करोड़ों रुपए, गिरफ्तार

देहरादून। करोड़ों के छात्रवृत्ति घोटाले में रकम हड़पने के आरोप में एसआईटी ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें मंगलौर से कांग्रेस के विधायक काजी निजामुद्दीन के भाई काजी नूरूद्दीन भी शामिल हैं। इसके साथ ही टेकवर्ड्स वली ग्रामोद्योग विकास संस्थान मंगलौर के अध्यक्ष और सचिव को भी गिरफ्तार कर लिया है। इनमें आरोपी काजी नूरुद्दीन संस्था के कोषाध्यक्ष हैं।

वहीं दूसरे आरोपी संजय बंसल देवभूमि ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट, देहरादून के चेयरमैन भी हैं। छात्रवृत्ति घोटाले में एसआईटी ने 21 दिन में हरिद्वार के तीसरे निजी संस्थान के खिलाफ कार्रवाई की है।

एसआईटी जांच में आया कि टेकवर्ड्स वली ग्रामोद्योग विकास संस्थान ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन मंगलौर द्वारा 2012-13 से 2014-15 तक अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के छात्रों के दाखिले दर्शाकर करीब दो करोड़ 54 लाख रुपए की धनराशि 10 हजार 440 रुपये की छात्रवृति हड़पी गई है।

एसआईटी ने जब कॉलेज का भौतिक सत्यापन किया तो कॉलेज के स्थान पर खंडहर मिला। आरोपियों ने एमबीए, बीबीए, बीसीए, बीएससी, आईटी के कोर्स संचालित करने के लिए वर्ष 2011 में उत्तराखंड तकनीकी विश्वविद्यालय से आवेदन किया था, लेकिन उन्हें मान्यता नहीं मिली थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here