टूटी खिड़की- दरवाजे, बेसिन में आलू, गढ़वाल विश्वविद्यालय के हॉस्टल में धरने पर छात्र

hemwati nandan bahuguna

 

हेमवंती नंदन बहुगुणा यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में मिलने वाले भोजन की गुणवत्ता को लेकर बड़ा हंगामा हुआ है। यहां भोजन की गुणवत्ता पर सवाल उठाते हुए 350 से अधिक हास्टल में रहने वाले छात्रों ने कॉलेज गेट पर धरना दिया है।

हॉस्टल में रहने वाले छात्रों का आरोप है कि उनको बेहद खराब खाना परोसा जा रहा है। पिछले काफी वक्त से खाने की गुणवत्ता दोएम दर्जे की है। हालात ये हैं कि बार बार कहने के बावजूद भोजन की क्वालिटी में सुधार नहीं हो रहा है।

इसी बात से नाराज 350 से अधिक छात्रों ने मंगलवार को यूनिवर्सिटी के गेट पर धरना दे दिया। नाराज छात्रों की कई मसलों पर नाराजगी है। छात्रों का आरोप है कि वो जिस वॉशबेसिन में हाथ धुलते हैं उसी वॉश बेसिन में रखकर आलू धुले जा रहें हैं। भोजन भी बेहद गंदे वातावरण में बनाया जा रहा है।

यही नहीं देश के अलग अलग हिस्सों से पढ़ने आए छात्रों को हॉस्टल में जिन रूम्स में रखा गया है उन रूम्स की खिड़कियों पर कांच तक नहीं लगे हैं और ठंड के मौसम में ठंडी हवा सीधे कमरों में आ रही है।

वहीं यूनिवर्सिटी प्रशासन बजट न होने का रोना रो रहा है। यूनिवर्सिटी प्रशासन का कहना है कि उनके पास बजट की कमी है। वहीं हॉस्टल के मेस में गंदगी और वॉसबेसिन में आलू धुलने की बात से यूनिवर्सिटी प्रशासन इंकार कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here