देहरादून लूटकांड : दूसरों राज्यों में भी बिछाई DIG ने अपने खिलाडियों की फील्डिंग, दो टीमें यहां रवाना

देहरादून : बीती दिनों देहरादून के पटेलनगर थाना क्षेत्र में रात के अंधेरे में ज्वैलर व्यापारी से हुई लूट में आरोपियों की धड़पकड़ के लिए डीआईजी एक्शन में हैं। डीआईजी ने शहर भर में अपनी पुलिस टीम की फील्डिंग बिछा दी है। जगह-जगह चेकिंग की जा रही है। डीआईजी अरुण मोहन जोशी एक्शन में हैं। उन्हें कतई बर्दास्त नहीं कि उनके शहर में आकर कोई इतनी बड़ी घटना को अंजाम दे और वो खुले में घूमे। डीआईजी को बदमाशों के खिलाफ सर्विलांस के जरिए कुछ हिंट मिलें हैं और इसी को देखते हुए डीआईजी और देहरादून एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने अपने खिलाड़ी दूसरे राज्यों में भी लगा दिए हैं। आपको बता दें कि डीआईजी ने एक टीम दिल्ली और पश्चिम उत्तर प्रदेश में भेजी है। डीआईजी नहीं चाहते कि आरोपी कहीं ओर ऐसी घटना को अंजाम दे।

ज्वेलर्स अक्सर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिलों से सोने-चांदी की खरीदारी किया करता था

पुलिस लॉकडाउन से लेकर अब तक विभिन्न जिलों की जेलों से पैरोल या जमानत पर बाहर आए बदमाशों की कुंडली खंगाल रही है। उनकी मूवमेंट की जानकारी करने के साथ-साथ पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिलों की पुलिस से भी संपर्क साधा गया है। इसकी एक वजह यह भी है कि ज्वेलर्स अक्सर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिलों से सोने-चांदी की खरीदारी किया करता था। इसलिए पुलिस का मानना है कि उसके इस मूवमेंट के आधार पर पश्चिमी उत्तर प्रदेश का कोई गैंग उसे निशाना बना सकता है।

दो बाइक सवार बदमाशों ने 5 लाख का सोना और 30 हजार रुपये की नगदी लूटी थी

बता दें कि बीते दिनों दो बाइक सवार दो बदमाशों ने सर्राफा का पीछा करते हुए 5 लाख का सोना और 30 हजार रुपये की नगदी लूट ली और फरार हो गए थे। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर डीआईजी-देहरादून एसएसपी अरुण मोहन जोशी समेत एसपी सिटी श्वेता चौबे औऱ तमाम अधिकारी कर्मचारी पहुंचे थे। घटना स्थल जायजा लिया गया था। वहीं व्यापारी समेत कइयों से पूछताछ की गई था। हर और पुलिस टीमें लगाई गई और सघन चेकिंग की गई। लेकिन आरोपी पकड़ से बाहर हैं।

डीआईजी ने शहर भर में लगाया अपने सिपाहियों को 

वहीं लूट को अंजाम देने वाले बदमाशों की धड़ पकड़ के लिए डीआईजी ने अपने सिपाहियों को शहर भर में लगाया है। डीआईजी ने लूट वाले मामले में आठ टीमें गठित कर शहर भर में पैनी नजर ऱखने के लिए फील्डिंग बिछाई है। इतना ही नहीं अब डीआईजी ने अपने खिलाडियों को दूसरे राज्य दिल्ली और प. उत्तरप्रदेश में भेजा है। डीआईजी ने अपनी टीमों के द्वारा आज शहर भर में 200 सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया है। साथ ही लॉक डाउन के बाद जो अपराधी पैरोल पर बाहर आए हैं उनका सत्यापन किया जा रहा है। इसके अलावा दूसरे राज्य और जनपदों में हुई इस तरह की घटनाओं में कौन-कौन लोग प्रकाश में आए हैं और किन-किन पर शिकंजा कसा गया है उनकी भी जानकारी ली जा रही है। साथ ही सुनार के भाई से आज पूछताछ की गई है। पूछताछ करने पर पता चला कि इनकी दो दुकानें मोहब्बेवाला और धमावाला में हैं। इन दुकानों में काम करने वाले कर्मचारियों से भी पूछताछ की गई है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here