देहरादून से बड़ी खबर : ‘सपेरा गैंग’ का भंडाफोड़, 6 आरोपी गिरफ्तार, पुलिस को दी कई बार चुनौती

देहरादून : रायवाला पुलिस और एसओजी ग्रामीण ने बड़ी कार्यवाही करते हुए पेशेवर अन्तर्राज्यीय सपेरा गैंग का भंडाफोड़ करते हुए 6 शातिर अपराधियों को गिरफ्तार किया। एसएसपी ने मामले का खुलासा किया औऱ जानकारी दी कि सपेरा गैंग के सदस्यों ने रायवाला, ऋषिकेश, सहसपुर क्षेत्र मेंं कई चोरियों की घटनाओं को अंजाम दिया था।

रायवाला थाना में की गई थी शिकायत

बता दें कि 13 सितंबर को छिद्दरवाला निवासी सोबत सिंह कलूड़ा पुत्र लाखन सिंह  ने रायवाला थाने में शिकायत की थी कि रात को अज्ञात चोरों ने उनके भतीजे मनोज कलूडा के घर पर चोरी को अंजाम दिया। घर से सोने-चांदी के जैवरात और कुछ नगदी चोरी की गई। तहरीर पर रायवाला में अज्ञातों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। वहीं इसके बाद 14 दिसंबर को छिद्दरवाला निवासी वीरेन्द्र सिंह रावत ने तहरीर देते हुए बताया कि 29 नवंबर की रात अज्ञात बदमाशों ने उनके मकान की पीछे की खिडकी की ग्रिल उखाडकर घर में रखी 17000 रुपयों पर हाथ साफ किया। थाने में अज्ञातों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया. आरोपियों की धड़पकड़ के लिए टीम गठित की गई।

मुखबिरों का रहा अहम रोल

पुलिस टीमों ने सीसीटीवी फुटेज खंगाले। इस दौरान एक फुटेज में हाइवे रोड़ से जा रही एक संदिग्ध बाइक को चिन्हित किया गया लेकिन रात का समय होने के कारण वाहन को पहचान पाना काफी कठिन हुआ। पुलिस टीम ने उपरोक्त संदिग्ध वाहन की जानकारी के लिए उसी रास्ते में लगे अन्य सीसीटीवी कैमरों को चैक किया तो बाइक देर रात नेपाली फार्म की ओर आती हुई दिखी। दो अन्य बाइकें भी उक्त मार्ग से आती हुई दिखाई दी। दोनों संदिग्ध बाइकों का करते करते हुए टीम ने चोरों के संदिग्ध एरिया घिसूपुरा पथरी तक पीछा किया और मुखबिरों से संदिग्धों के नम्बर जुटाये और साथ ही संदिग्ध नम्बरों को सर्विलांस में डाला गया। इस दौरान 17 दिसंबर को पुलिस टीम को मुखबिर ने सूचना दी कि रायवाला क्षेत्र में चोरी की घटनाओं को अनजाम देने वाले आरोपी पूर्व में रायवाला और अन्य  जगहों पर चोरी कर चुके हैं. मुखबिर की सूचना पर पुलिस तीन पानी पुलिया पर पहुंची तो मौके पर कुछ व्यक्ति खडे दिखाई दिये जो आपस में सामान का बंटवारा कर रहे थे, तभी पुलिस टीम ने मौके से आरोपियों को गिरफ्तार किया और तलाशी ली। आरोपियों के पास से कई जगहों से की गई चोरी के माल बरामद हुए।

चोरी के दौरान किसी के सामने आने पर करते हैं औजारों से हमला

सपेरा गैंग के सदस्य अपने साथी सपेरा चोरों को नहटौर, कोटआली चिडियापुर मण्डावली, धोसीपुरा पथरी, और भानियावाला डोइवाला क्षेत्र से बुलाते हैं और घटना को अन्जाम देने के लिए शाम के समय अंधेरा होने पर रोडवेज बसों से आकर घटना वाले क्षेत्र में उतर जाते हैं, जिनको स्थानीय सपेरों द्वारा अपने वाहनों से घटना स्थल पर पहुंचाया जाता है। गिरोह के सदस्यों ने बताया कि वह चोरी की घटना के दौरान फोन और वाहन का उपयोग नहीं करते हैं ताकि वो सीसीटीवी और सर्विलांस की पकड़ में न आ सकें। सपेरा गिरोह ने जिस घर में चोरी करनी होती है, उस घर के अन्य कमरों को जिनमें घर के व्यक्ति सो रहे होते हैं, उन्हें बाहर से बन्द कर कुण्डी मार देते हैं और जिन दरवाजों में कुण्डी नहीं होती, उन्हे कपड़े से बांधकर बन्द कर देते हैं। इस दौरान अगर कोई व्यक्ति सामने आ जाये तो उस पर अपने पास मौजूद औजारों से हमला कर मार देते हैं। चोरी की घटना को अंजाम देने के लिए कमरे की ग्रिल/जाली को सरिया आदि साधनों से काट/उखाड़ देते हैंं और वापस जंगल के रास्ते चले जाते हैं।

पूछताछ में खुलासा

पूछताछ में अन्तर्राज्यीय गिरोह (सपेरा) के सरगना सूरजनाथ के द्वारा बताया गया कि हमारे द्वारा थाना रायवाला, थाना ऋषिकेश, थाना सहसपुर में चोरी की घटना को अंजाम दिया गया है। चोरी की घटनाओ को अनजाम देने में मेरा रिश्तेदार नागा उर्फ नागमणी अपने साथियों के साथ मेरा सहयोग करता है। मै तथा मेरा एक अन्य साथी लवनाथ घटनास्थल की पूर्व छानबीन कर घटना घटित करने वाले स्थान को चिन्हित करने का काम करते है उसके पश्चात नागा उर्फ नागमणी अपने अन्य साथियों के साथ अलग-अलग जगह से रोड़वेज बस से आकर घटना कारित करने वाले क्षेत्र में उतरते है जहाँ से मै अपने अन्य साथी लवनाथ तथा फौरिस उर्फ नीरब के साथ उन्हे स्थानीय मोटर साईकिलो से घटनास्थल तक ले जाता हूँ जहाँ रात्री के समय हमारे द्वारा चोरी की घटनाओ को अनजाम दिया जाता है। घटना कारित करते समय हम लोगों के द्वारा जूते चप्पलों का उपयोग नहीं करते है तथा नंगे पैर ही जाकर घटना को अंजाम देते है। हम लोग जिस घर में चोरी करते हैं उस घर के उन कमरों में कुण्डी मार देतें है जहां परिवार के सदस्य सोये रहते हैं। यदि घटना के दौरान कोई व्यक्ति आ जाता है तो हम उसके सर पर वार कर देते हैं। घटना कारित करने के उपरान्त हम लोग चोरी का समान लेकर जंगल के रास्ते अन्यत्र स्थानों को भाग जाते है।

आरोपियों का नाम पता

1- सूरजनाथ पुत्र बसन्तनाथ नि0 सपेरा बस्ती भानियावाला थाना डोइवाला जनपद देहरादून उम्र-20 वर्ष
2- लवनाथ पुत्र शशिनाथ नि0 सपेरा बस्ती भानियावाला थाना डोइवाला जनपद देहरादून उम्र-19 वर्ष
3- चीनू पुत्र चन्द्र नाथ नि0 कोटावली चिडियापुर थाना मण्डावली जिला बिजनौर उ0प्र0 उम्र-23 वर्ष
4- नागा उर्फ नागमणी उर्फ आमीश पुत्र स्वराजनाथ नि0 कोटवाली चिडियापुर थाना मण्डावली बिजनौर उ0प्र0 उम्र-24 वर्ष
5- फौरिस उर्फ नीरब पुत्र कल्ला नाथ नि0 बस्ती भानियावाला थाना डोइवाला जनपद देहरादून उम्र-20 वर्ष
6- सन्दीप उर्फ ब्रेन पुत्र सुरेन्द्रनाथ नि0 धनपुरा थाना पथरी हरिद्वार उम्र-19 वर्ष

आरोपियों का आपराधिक इतिहास 

1- चीनू पुत्र चन्द्र नाथ नि. कोटावली चिडियापुर थाना मण्डावली जिला बिजनौर
2- नागा उर्फ नागमणी उर्फ आमीश पुत्र स्वराजनाथ नि0 कोटवाली चिडियापुर थाना मण्डावली बिजनौर उ0प्र0

वांछित आरोपी
1- फौजीनाथ पुत्र कल्लू नाथ नि0 धनपुरा थाना पथरी जनपद हरिद्वार
2- गोपीनाथ पुत्र मस्तूराम नि0 धनपुरा थाना पथरी जनपद हरिद्वार

वांछित अभियुक्तगण का आपराधिक इतिहास:-

1- फौजीनाथ पुत्र कल्लू नाथ नि0 धनपुरा थाना पथरी जनपद हरिद्वार

2- गोपीनाथ पुत्र मस्तूराम नि0 धनपुरा थाना पथरी जनपद हरिद्वार

अभियुक्तगण से बरामद माल का विवरणः-

1- 01 गले का हार पीली धातु,
2- 01 अदद मांगटीका पीली धातु,
3- 01 जोड़ी कान की झुमकी पीली धातु
4- 02 जोड़ी पायजेब सफेद धातु
5- 01 जोड़ी कानों की लटकन पीली धातु,
6- 01 अदद मंगल सूत्र पीली धातु,
7- 02 जोड़ी हाथों के धागुले पीली धातु,
8- 01 जोड़ी पायल सफेद धातु,
9- 02 अदद लौंग पीली धातु
10- 01 जोड़ी कान की बाली पीली धातु,
11- 01 एक जोडी पायल सफेद धातु,
12- 01 अदद मंगलसूत्र पीली धातु
13- 02 कैमरे सोनी कम्पनी के
14- एटीएम कार्ड SBI
15- 10000 रुपये
16- 2 औजार आलानकब,1 प्लास, पेचकश
(बरामद माल का अनुमानित मूल्य लगभाग-3,75,000/- तीन लाख, पिच्चहत्तर हजार रुपये)

पुलिस टीमः-

1- भुवन चन्द्र पुजारी, थानाध्यक्ष रायवाला
2- उनि नीरज कुमार
3- उनि कुशाल सिंह रावत
4- उनि ज्योति प्रसाद उनियाल
5-कानि 787 दिनेश महर
6-कानि 63 विनोद कुमार
7-कानि 228 प्रदीप गिरी
8-कानि 527 प्रवीण नेगी
9-कानि 606 कुलदीप
10-कानि 1047 दिनेश चौहान

SOG टीम

1-उनि ओमकान्त भूषण (प्रभारी SOG ग्रामीण)
2-आरक्षी नवनीत (SOG ग्रामीण)
3-आरक्षी सोनी कुमार (SOG ग्रामीण)
4-आरक्षी मनोज (SOG ग्रामीण)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here