उत्तराखंड में ब्रेकफास्ट पॉलिटिक्स, कौशिक का ऑफर, हरक टिकेंगे या डिगेंगे?

देहरादून। उत्तराखंड की सियासत से बड़ी खबर है। बता दें कि बीते दिन जहां हरीश रावत के हरक सिंह रावत को फोन करने से उत्तराखंड की राजनीति में हलचल मच गई थी तो वहीं आज बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक में कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत को फोन करने पर फिर से सनसनी फैल गई है। उत्तराखंड में ब्रेकफास्ट पॉलिटिक्स का सिलसिला जारी है। कभी सीएम यशपाल आर्य के साथ नाश्ता करते हैं तो कभी कौशिक हरक को नाश्ते का ऑफर देते हैं। जी हां हम ये इसलिए कह रहे हैं क्योंकि मदन कौशिक ने हरक सिंह के साथ ब्रेकफास्ट करने की फोन पर बात की है।

मदन कौशिक का हरक को ब्रेकफास्ट का ऑफर 

मिली जानकारी के अनुसार बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने हरक सिंह रावत को फोन कर अपने आवास पर ब्रेकफास्ट का ऑफर दिया है यानी की ब्रेकफास्ट के लिए बुलाया है। अब ये ब्रेकफास्ट हरीश रावत के किस फैसले पर ब्रेक लगाता है ये तो वहीं जाने लेकिन बता दें कि इससे पहले य़शपाल आर्य के आवास पर सीएम धामी पहुंचे थे और नाश्ते की बात कही थी। लेकिन कुछ दिनों बाद साफ हो गया था कि नाश्ता की टेबल पर क्या बात हुई और सीएम धामी यशपाल आर्य के घर क्यों गए।

क्या यशपाल आर्य का रास्ता अपनाएंगे हरक सिंह?

मिली जानकारी के अनुसार कुछ ही देर बाद कैबिनेट मंत्री हरक सिंह बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के आवास पर पहुंच सकते हैं और खाने का स्वाद चख सकते हैं लेकिन इसके बाद कौन सा स्वाद भाजपा को चखने को मिलेगा ये आने वाला समय ही बता सकता है। इसको लेकर कई सवाल खड़े हो रहे हैं कि क्या हरक पार्टी से नाराज होकर जा रहे हैं? क्या यशपाल आर्य की तरह हरक सिंह रावत भी कांग्रेस का दामन थामने जा रहे हैं और सीएम समेत मदन कौशिक उन्हें मनाने की कोशिश कर रहे हैं?

सियासत में हलचल

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक और हरक सिंह रावत के ब्रेकफास्ट साथ करने के कई मायने निकाले जा रहे हैं. इसे यशपाल आर्य से जोड़कर देखा जा रहा है। इससे एक बात तो साफ है कि उत्तराखंड भाजपा में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है.भाजपा की ब्रेकफास्ट राजनीति कितनी सफल साबित होती है ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा लेकिन फिलहाल इसमे कोई दम नजर नहीं आया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here