बड़ी खबर : वन विभाग की चुप्पी पर SDM का छापा, हुआ बड़ा खुलासा

 

बनबसा: बनबसा में माफिया ने कीमती हरे पड़ों को रातों-रात काट डाला। सरकारी जमीन पर खड़े इन पेड़ों को काटने का आरोप सभासद के पति पर लगा है। इसकी जानकारी वन विभाग के अधिकारियों को थी, लेकिन वो चुप्पी साधे रहे। मामले का खुलासा तब हुआ, जब एसडीएम हिमांशु कफल्टिया ने मौके पर छापेमारी की। इसके बाद हड़कंप मच गया। एसडीएम ने कहा कि दोषियों को किसी भी हाल में नहीं बख्शा जाएगा।

जानकारी के अनुसार बनबसा की कैनाल की जमीन पर लगभग दो दर्जन से अधिक हरे पेड़ों को बेखौफ सभासद पति ने कटवाकर टिम्बर मर्चेंट के साथ मिलकर लाखों रुपयों की बेशकीमती इमारती लकड़ी को बेच डाला। बनबसा के वार्ड-6 की सभासद के पति किशन कुमार और खटीमा के नवीन टिंबर पर हरे पेड़ांे को कटवाकर बेचने का आरोप है। बड़ी बात यह है कि जिस जगह पर पेड़ काटे गए। वह नगर पालिका कार्यालय के पास ही है। वन विभाग की चैकी भी घटनास्थल से करीब डेढ़ सौ मीटर की दूरी पर है।

एसडीएम हिमांशु कफल्टिया ने बताया कि निरीक्षण के दौरान कटे हुए पत्तों को देखकर संदेह होने पर जांच की गई तो पता चला कि सरकारी जमीन में लगभग दो दर्जन बेशकीमती हरे पेड़ों को काटा गया है। पत्तों से कटे हुए पेड़ो के ठूंठों को ढका गया था। मामले की छानबीन करने पर पाया गया कि इन पेड़ों को वार्ड-6 की पार्षद के पति किशन कुमार और खटीमा के नवीन टिंबर की मिलीभगत से काट कर बेच दिया गया है।

उन्होंने कहा कि इस मामले में कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा वन विभाग द्वारा लकड़ी की कीमत का आंगणन कर पैनाल्टी भी लगाई जाएगी। उन्होंने बताया कि जिस जमीन से पेड़ काटे गये हैं, वो भूमि कैनाल की है। इसलिए सरकारी भूमि के मामले में राजस्व विभाग भी कार्रवाई करेगा। इसमें जो भी शामिल पाया जाएगा। सबके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here