उत्तराखंड से बड़ी खबर : सतपाल महाराज की बगावत, चौबट्टाखाल सीट छोड़ने से इंकार

देहरादून। चौबट्टाखाल से भाजपा विधायक सतपाल महाराज ने तीरथ सिंह रावत के सीएम बनने के बाद बड़ा बयान जारी किया है। जी हां बता दें कि सतपाल महाराज ने पहले तो प्रदेश के नवनियुक्त मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को शुभकामनाएं दी और फिर सोशल मीडिया में चल रही आधारहीन खबरों का खंडन किया। जिससे कहा जा रहा है कि उनके बगावती सुर नजर आ रहे है। बता दें कि सोशल मीडिया पर चौबट्टाखाल विधानसभा सीट खाली करने और पौड़ी से लोकसभा चुनाव लड़ने की बात कही गई है, जिसको खारिज करते हुए स्पष्ट कहा कि फिलहाल उनका ऐसा कोई इरादा नहीं है।

सतपाल महाराज चौबट्टाखाल की सीट को नहीं छोड़ेंगे

वहीं बता दें कि सतपाल महाराज के जन सम्पर्क अधिकारी निशीथ सकलानी ने विज्ञप्ति जारी कर इसकी जानकारी दी है कि सतपाल महाराज चौबट्टाखाल की सीट को नहीं छोड़ेंगे। बता दें कि पहले तो सतपाल महाराज ने नव नियुक्त मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को प्रदेश की कमान संभालने पर शुभकामनाएं दी और कहा कि उनके विषय में सोशल मीडिया में प्रचारित किया जा रहा है कि मैं चौबट्टाखाल विधानसभा सीट छोड़ कर पौड़ी लोकसभा से चुनाव लडूंगा, जो कि सरासर गलत और आधारहीन हैं। मैं ऐसी सभी खबरों का खण्डन करता हूँ। सतपाल महाराज ने ऐसी सभी खबरों पर विराम लगाते हुए खबरों को मनगढ़न्त और औचित्यहीन बताया है। उन्होंने स्पष्ट किया कि चौबट्टाखाल की जनता का अपार स्नेह और प्यार उन्हें निरन्तर मिलता रहा है और आगे भी यूं ही मिलता रहेगा। इसलिए चौबट्टाखाल विधानसभा सीट को छोड़ने का प्रश्न ही पैदा नहीं होता यह सभी खबरें मनगढ़ंत और आधारहीन है।

सीएम दावेदारों की रेस में सतपाल महाराज का नाम भी शामिल था

आपको बता दें कि सीएम दावेदारों की रेस में सतपाल महाराज का नाम भी शामिल था लेकिन हाईकमान ने ऐसे नाम पर मुहर लगाई जिसकी कोई चर्चा तक नहीं हुई थी। खुद तीरथ सिंह रावत सीएम के नाम के ऐलान के बाद हैरान रह गए थे। उन्होंने मंच से कहा भी कि उन्होंने कभी कल्पना भी नहीं की थी कि वो सीएम बनेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here