उत्तराखंड शिक्षा विभाग से जुड़ी बड़ी खबर : फर्जी प्रमाण पत्र से पाई सरकारी नौकरी, गिरफ्तार

डोईवाला- सीएम के विधानसभा क्षेत्र डोईवाला में फर्जी प्रमाणपत्र के जरिए नियुक्ति पाने वाले और फरार चल रहे सरकारी शिक्षक को पुलिस ने आज गिरफ्तार किया.

हाईस्कूल के अंकपत्र व प्रमाण पत्र पाए गए फर्जी 

आपको बता दें कि अपराध अनुसंधान विभाग खंड देहरादून के विशेष अन्वेषण दल (Special Investigation Team) के द्वारा बेसिक शिक्षा विभाग उत्तराखंड में कार्यरत फर्जी शिक्षकों व अन्य समस्त शिक्षकों के प्रमाण पत्रों की जांच की गयी थी. SIT टीम द्वारा जांच में राजकी उच्च प्राथमिक विद्यालय, सुनार गांव खंड, डोईवाला, देहरादून में नियुक्त सहायक अध्यापक पुरुषोत्तम यादव के शैक्षिक प्रमाण पत्रों की जांच करने पर पाया कि यादव द्वारा नियुक्ति के समय शिक्षा विभाग को दिए गए अपने हाईस्कूल के अंकपत्र व प्रमाण पत्र फर्जी दिए गए है।

एसआईटी ने कार्रवाही की रिपोर्ट शिक्षा विभाग को भेजी

इसके क्रम में SIT द्वारा आवश्यक कार्यवाही के लिए रिपोर्ट शिक्षा विभाग को भेजी गई औऱ शिक्षा विभाग द्वारा एसआईटी जांच के आधार पर पुरुषोत्तम यादव की विभाग से सेवा समाप्ति कर थाना डोईवाला पर एफआईआर के लिए प्रार्थना पत्र दिया गया।

अभियुक्त चांदपुर, ग्राम रामपुर, बिजनौर के आस पास का रहने वाला

पुरुषोत्तम यादव के हाईस्कूल व इंटरमीडिएट अंक पत्र व प्रमाण पत्र व मूल निवास प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए। अभियुक्त मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए फरार चल रहा था. वहीं मुखबिर की सूचना पर पता चला कि अभियुक्त चांदपुर, ग्राम रामपुर, बिजनौर के आस पास का रहने वाला है। मुखबिर की सूचना पर अभियुक्त के निवास स्थान ग्राम रामपुर जिला बिजनौर उत्तर प्रदेश पर दबिश दी गई और गिरफ्तार किया ग.या

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here