बड़ी खबर : मसूरी में पुलिस की गाड़ियों के आगे लेटे लोग, जानें क्यों हुआ हंगामा

मसूरी: मसूरी में आज सुबह से ही सड़कों पर खूब हंगमा होता नजर आया। आलम यह रहा कि लोग पुलिस की गोड़ियों के आगे तक लेट गए। पुलिस की लोगों के साथ नोंकझोंक भी हुई। इस दौरान कुछ बुजुर्ग लोग भी प्रदर्शन के दौरान पुलिस को लोगों के साथ सख्ती से भी निपटना पड़ा।

दरअसल, शिफन कोर्ट से बेघर हुए लोगों और आम आदमी पार्टी ने समर्थन दिया। आप के कार्यकर्ताओं ने नगर पालिका परिषद के खिलाफ गांधी चैक पर प्रदर्शन किया। इस दौरान विरोध रैली भी निकाली। इस दौरान पुलिस और आप कार्यकर्ताओं के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई।

पुलिस ने आप पार्टी के मसूरी विधानसभा प्रभारी नवीन प्रसाली को हिरासत में ले लिया, जिसके बाद प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की जीप के आगे लेटकर पुलिस का घेराव किया और पुलिस प्रशासन और सरकार के खिलाफ खूब नारेबाजी की।

शिफन कोर्ट में सरकारी भूमि पर बस्ती बसी हुई है और कुल 84 परिवार यहां रह रहे थे। मामले में कोर्ट की ओर से जारी स्टे की अवधि समाप्त होने के बाद पुलिस-प्रशासन की टीम ने अतिक्रमण हटाओ शुरू किया। कई घरों को तोड़ा जा रहा है। जबकि कई घरों पर कार्रवाई होना बाकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here