उत्तराखंड से बड़ी खबर : शीतकाल के लिए बंद हुए केदारनाथ धाम के कपाट

रुद्रप्रयाग: केदारनाथ धाम के कपाट बर्फबारी के बीच आज शीतकाल के लिए विधि-विधान के साथ बंद कर दिए गए हैं। कपाट बंदी के मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी मौजूद रहे। केदारनाथ धाम के कपाट बंद करने की प्रक्रिया के तहत सबसे पहले 5.30 बजे गर्भ गृह के कपाट बंद कर दिए गए।

बाबा केदार की पंचमुखी भोगमूर्ति चल विग्रह डोली में विराजमान हुई और शीतकालीन गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ के लिए रवाना हुई। आज चल विग्रह डोली अपने पहले पड़ाय रामपुर पहुंचेंगे। 18 नवंबर को पंचकेदार गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में छह माह की पूजा-अर्चना के बाद विराजमान हो जाएंगे।

धाम के कपाट बंद करने की प्रक्रिया सुबह दो बजे से ही शुरू कर दी गई थी। मुख्य पुजारी शिव शंकर लिंग ने बाबा केदार के स्वयंभू ज्योतिर्लिंग को समाधि रूप देकर भष्म से ढक दिया गया। इसके बाद सुबह 4 बजे भोगमूर्ति को चल उत्सव विग्रह डोली में विराजमान किया गया आएैर भक्तों के दर्शन के लिए मंदिर परिसर में रखा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here