उत्तराखंड से बड़ी खबर : वनकर्मियों और विदेशी तस्करों के बीच फायरिंग, एक वन आरक्षी घायल

 

खटीमा : भारत-नेपाल बॉर्डर से लगे जंगल में पिछले कुछ समय से लकड़ी की तस्करी के मामले बढ़ने लगे हैं। बताया जा रह है कि सोमवार की देर रात करीब 10 बजे नेपाल बॉर्डर पर नेपाल के लकड़ी तस्कर जंगल से साल के पेड़ काट रहे थे। पेड़ों को काटकर नेपाल लेजाया जाना था। इस दौरान वनकर्मी गश्त करते हुए वहां पहुंचे। जैसे ही तस्करों की नजर वनकर्मियों पर पड़ी उन्होंने उन पर फायर झोंक दिया।

एक वन आरक्षी छर्रा लगने से घायल हो गया। मजबूरन वनकर्मियों को भी फायर करना पड़ा। उसके बाद तस्कर वहां से फरार हो गए। SDO बाबूलाल ने बताया कि तस्करों का एक मोबाइल मिला है। उसके आधार पर पूरे मामले का पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है। खटीमा रेंजर राजेंद्र मनराल ने बताया लालकोठी क्षेत्र में वनकर्मी भजन देव, विवेक कुमार, दौलत, विवेक बोरा गश्त कर रहे थे।

रात करीब दस बजे टीम नेपाल बॉर्डर पहुंची। वनकर्मियों ने देखा कि 5-6 तस्कर साल का पेड़ काटकर दो बड़े-बड़े लट्ठे चोरी कर ले जा रहे थे। वन कर्मियों ने तस्करों को रोकने की चेतावनी दी तो तस्करों ने वनकर्मियों पर फायर झोंक दिया। इस दौरान एक गोली का छर्रा विवेक कुमार के गले में लग गया। घायल वन कर्मी को देर रात ही नागरिक अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था, उनकी हालत खतरे से बहार बतायी गयी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here