बड़ी खबर : गांव पर कोरोना का खतरा, डाॅक्टर और कर्मचारियों के सैंपल लिए

FILE PHOTO

देहरादून : विदेश से लौटा एक युवक कोरोना पाॅजिटिव पाया गया। युवक चिकित्सा अधिक्षक के संपर्क में आ गया। इसके बाद अस्पताल के चार और स्टाफ पर भी कोरोना का संकट मंडरा रहा है। सभी के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। सीएचसी चकराता के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती त्यूना क्षेत्र के एक अन्य युवक के सैंपल भी जांच को अलग से लैब में भेजा गया। विदेश से घर लौटे भंगार क्षेत्र के एक युवक को एहतियातन चकराता अस्पताल से देहरादून रेफर किया गया।

जौनसार में कोरोना के मामले सामने आने के बाद दौरे पर आए सीएमओ डॉ. बीसी रमोला पहुंचे थे। उनके सामने स्टाफ कर्मियों व स्थानीय लोगों ने समस्याएं रखी। आपातकालीन समय में मरीजों को एंबुलेंस और उपचार नहीं मिलने से लोग मरीज को डंडी-कंडी के सहारे मीलों दूर अन्य अस्पताल ले जाने को मजबूर हैं।

लोगों ने सीएमओ से कई गांवों के केंद्र बिंदु सीएचसी चकराता, सीमांत क्षेत्र के राजकीय अस्पताल त्यूणी व लाखामंडल क्षेत्र में दो नई एंबुलेंस देने की मांग की। कोरोना संक्रमित मरीज का उपचार देहरादून के कोविड-19 अस्पताल में चल रहा है। जिला सर्विलांस नोडल अधिकारी डॉ. आरके दीक्षित के निर्देशन में कोविड-19 टीम ने कोरोना का मामला सामने आने पर लखवाड़ क्षेत्र को सैनिटाइज किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here