ब़ड़ी खबर : लश्कर के टॉप कमांडर हैदर को मार शहीद हुए 5 जांबाज जवान, लोगों को बचाया

जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में रविवार को आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ में भारत ने अपने  5 बहादुर जवानों को खो दिया। आतंकियों से लोहा लेने के दौरान भारतीय सेना के दो अफसर समेत 5 जवान शहीद हो गए। हालांकि, उन्होंने दो आतकंवादियों को मौत के घाट उतार दिया। एबीपी न्यूज के अनुसार भारतीय सेना के लश्कर के टॉप कमांडर हैदर को ढेर कर दिया है। नागरिकों को बचाने के लिए भारत के वीर सैनिकों ने अपनी शहादत दी और बड़े आतंकी हैदर को ढेर कर दिया है।

कर्नल आशुतोष शर्मा की अगुवाई में चला ऑपरेशन

एनकाउंटर में शहीद जवानों में कर्नल आशुतोष शर्मा भी शामिल थे जिनकी अगुवाई में भारतीय सुरक्षाबलों ने आतंकियों के खिलाफ कई ऑपरेशनों को अंजाम दिया है और उन्हें सबक सिखाया है।इस ऑपरेशन में सेना की 21 राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), 92 बटालियन सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) के जवान शामिल थे।

वहीं जानकारी मिली है कि पांच शहीदों में पहाड़ का लाल भी शमिल था जो शहीद हो गया। शहीद का नाम दिनेश है जो की अल्मोड़ा भनोली के मिरगांव का रहने वाले बताए जा रहे हैं। शहीद जवान दिनेश 25 साल के थे। एक के बाद एक कर उत्तराखंड के 3 जवान दो दिन में शहीद हुए हैं। दो दिन से लगातार उत्तराखंड सहित पूरे देश के लिए बुरी खबर आई है।

कर्नल, मेजर समेत पांच जवान हुए थे शहीद, दो आतंकी ढेर

आपको बता दें कि आज जम्मू-कश्मीर हंदवाड़ा में आतंकियों के खिलाफ अभियान में कर्नल और मेजर समेत भारतीय सेना के पांच जवान शहीद हो गए हैं। कश्मीर घाटी के हंदवाड़ा में चल रही इस मुठभेड़ में दो आतंकी मार गिराए गए हैं। वहीं जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक जवान ने भी आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हो गया। जिसमे उत्तराखंड अल्मोड़ा के रहने दिनेश भी शामिल है। उत्तराखंड के एक और बेटे ने देश की रक्षा के लिए अपनी शहादत दी।

अधिकारियों ने रविवार को बताया कि हंदवाड़ा के चांजमुल्ला इलाके में हुई मुठभेड़ में दो आतंकवादी भी मारे गए हैं। यह इलाका उत्तर कश्मीर के कुपवाड़ा जिले का हिस्सा है। उन्होंने बताया कि सेना ने बंधक बनाए गए नागरिकों को बचाने के लिए अभियान चलाया। शहीद हुए सैन्य अफसर सुरक्षाकर्मियों की टीम का नेतृत्व कर रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here