उत्तराखंड: STF का बड़ा खुलासा, अगर आपने भी बीमा कराया है तो जरूर पढ़ें से खबर

ऑनलाइन कमर्शियल बीमा और अन्य वाहनों के बीमा में फर्जीवाड़े का बड़ा मामला सामने आया है। तकनीकी कमी का लाभ उठाकर ठग लोगों को चूना लगा रहे थे। एसटीएफ ने जांच के बाद एक बड़ी गड़बड़ी पकड़ी है। मामले ऐसा में 4 लोगों गिरफ्तार भी किया गया है। इस गड़बड़ी के शिकार केवल उत्तराखंड नहीं, बल्कि देशभर के लोग हुए हैं। फिलहाल मामले की जांच चल रही है।

स्पेशल टास्क फोर्स को सूचना प्राप्त हो रही थी कि देहरादून में चार पहिया व कमर्शियल वाहन के बीमा वास्तविक कीमत से बहुत कम रेट पर हो रहे हैं। फर्जी बीमा आरटीओ की वेबसाईट या किसी भी पोर्टल पर चेक करने पर बीमा सही प्रदर्शित होता है। एसटीएफ ने इसको लेकर आरटीओ कार्यालय के बाहर से 4 व्यक्तियों 1.प्रदीप गुप्ता इन्दिरा कालोनी, 2.मंसूर हसन ब्रहमपुरी निरंजनपुर, 3.महमूद रक्षा विहार, रायपुर रोड और 4. नीरज कुमार गुप्ता सहारनपुर उत्तर प्रदेश निवासी को गिरफ्तार किया गया।

पूछताछ में ज्ञात हुआ कि 2018 और इसके बाद कोविड के दौरान सभी कम्पनियों द्वारा आन लाईन इंश्योरेंस (insurance) की सुविधा देनी शुरू कर दी थी, जिसमें की पे-टीएम, फोन-पे और पालिसी बाजार आनॅलाईन बीमा कराने के एड देने शुरू कर दिये, जिसमें कि ग्राहक HDFC ERGO GENRAL INSURANCE COMPANY LIMITED, RELIANCE GENRAL INSURANCE, BAJAJ ALLIANZ GENRAL INSURANCE COMPANY LTD जैसे कम्पनी से अपने वाहनोन का बीमा कराया जाता है।

जानकारी में आया है कि देशभर में इसी प्रकार से समस्त राज्यों में कुछ एजेन्टों द्वारा बीमा किया जा रहा है, जिससे वाहन स्वामी द्वारा भी कम पैसे के लालच में इस प्रकार का बीमा सर्टिफिकेट प्राप्त कर लिया जाता है। इस प्रकार की लगभग 24 कम्पनियों द्वारा बीमे की सुविधा देश में ऑनलाइन अलग-अलग प्लेटफार्म के माध्यम से दी जा रही है। उक्त प्रकार के इन्श्योरेंस करने वाले गेटवे जैसे पे-टीएम, पे-फोन व पालिसी बाजार जैसे अन्य गेटवे की जानकारी की जा रही है। उक्त घोटाला राजस्व चोरी (जीएसटी) का करोड़ों में होने का अनुमान है।

खुलासे में विगत एक माह से एसटीएफ की टीम गोपनीय रूप से छानबीन और तकनीकी पहलुओं के परीक्षण उपरांत देर रात चार दलालांे को पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया। साथ ही एसटीएफ के निरीक्षक अबुल कलाम की ओर से थाना डालनवाला पर 420, 465, 467, 468, 471 व 120 बी धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कराया गया है। प्रभारी एसटीएफ उत्तराखंड अजय सिंह ने मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए देशभर में इस प्रकार की ठगी की संभावना व बड़े पैमाने पर राजस्व चोरी को देखते हुए परिवहन, सेल्स टैक्स जैसे विभागों से भी संपर्क किया गया है।

बरामद माल
1 लैपटॉप
1 मोबाइल
फर्जी बीमे से संबंधित दस्तावेज
टीम
नि अबुल कलाम
उनि यादवेंद्र बाजवा
उनि उमेश कुमार
का लोकेन्द्र कुमार
का विजेंदर चौहान
का महेंद्र नेगी
का अनूप भाटी
का मोहन असवाल
का संदेश यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here